October 19, 2021
Breaking News

10 के सिक्कों को लेकर हो रहे भ्रम में आरबीआई का बयान

10 के सिक्कों को लेकर हो रहे भ्रम में आरबीआई का बयान

 नई दिल्ली। बाजार में 10 रुपए के सिक्कों को लेकर जारी भ्रम के बीच रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने इसे लेकर बयान जारी किया है। आरबीआई ने कहा है कि बाजार में 14 डिजाइन में सिक्के हैं और सभी वैध हैं। खबरों के अनुसार बुधवार को रिजर्व बैंक ने एक बयान जारी किया है ताकि लोगों के बीच 10 के सिक्कों को लेकर स्थिति साफ हो सके। इस बयान में कहा गया है कि यह देखने में आ रहा है कि कुछ राज्यों और जगहों पर 10 रुपए के सिक्कों को लेने और देने में लोगो में भ्रम की स्थिति रहती है। हम यह साफ करना चाहते हैं कि रिजर्व बैंक टकसालों में ढले सिक्के बाजार में लाती है और इनकी डिजाइन अलग-अलग है।इसमें आगे कहा गया है कि सिक्कों की जिंदगी लंबी होती है और वक्त-वक्त पर चलन में आते रहते हैं। अब तक रिजर्व बैंक ने 14 डिजाइन में 10 रुपए के सिक्के बाजार में उतारे हैं और लोगों को प्रेस विज्ञप्तियों के माध्यम से इनकी जानकारी भी दी जाती रही है। यह सभी सिक्के वैध हैं और लेन-देन के उपयोग में लिए जा सकते हैं।बयान में आगे कहा गया है कि रिजर्व बैंक ने 20 नवंबर 2016 में भी एक बयान जारी कर साफ किया था कि सभी सिक्के वैध हैं। देश के विभिन्न राज्यों में सिक्कों को लेकर फैले भ्रम को आरबीआई ने साफ किया है। आरबीआई ने कहा है कि सभी सिक्के वैध है और कोई भी सिक्का अमान्य नहीं है।आरबीआई ने कहा कि ये सिक्के समय-समय पर जारी किए गए अलग अलग डिजाइनों के सिक्के हैं। संसद, होमी भाभा, महात्मा गांधी की तस्वीर समेत अन्य सभी सिक्के मान्य हैं। इसमें मध्य में 10 लिखा सिक्का भी मान्य है। इसकी भिन्नता अलग-अलग मौकों पर जारी जाने की वजह है। अब अगर कोई ये सिक्के लेने से इनकार करता है तो उसके खिलाफ देशद्रोह का मामला भी बन जाएगा। कानून में प्रावधान है कि भारत की वैध मुद्रा लेने से इनकार करने पर राजद्रोह का मामला बनता है। भारतीय दंड संहिता की धारा 124 (1) के तहत केस दर्ज किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *