January 20, 2022
Breaking News

कम्बल बाबा का निराला अंदाज,1008 कुंडीय महायज्ञ में रोज संध्या आरती में उमड़ रहा भक्तो का भीड़-

जरही/भटगांव।
1008 कुंडीय महायज्ञ में रोज संध्या आरती में उमड़ रहा भक्तो का भीड़——-
———————————————————————

भटगांव के स्टेडियम ग्राउंड में चल रहे 1008 कुंडीय शिव शक्ति मनोकामना पूर्ण महायज्ञ में इन दिनों भक्तो का भीड़ लगा हुआ है रोज हवन करने दूर-दूर से भक्त आ रहे हैं।

कम्बल वाला बाबा के द्वारा कराया जा रहा यह महायज्ञ जो कि मनोकामना पूर्ण महायज्ञ का नाम दिया गया है, जिसपे दिन प्रतिदिन भीड़ बढ़ रही है रोजाना महायज्ञ में हवन पूजन किया जाता है, भक्तो के लिये प्रतिदिन विशाल भंडारा का आयोजन भी किया जा रहा है।

हवन करने उमड रहा भक्तो का भीड़.. निशुल्क है हवन में बैठना —-
——————–
इस महायज्ञ का कुंण्ड पूरी तरह निशुल्क है, जिस भक्तों को हवन करना है वह आकर सुबह 8 बजे से हवन मे बैठ सकता है और दोपहर 3 बजे से पुनः फिर हवन के लिऐ बैठ सकता है यह महायज्ञ मे हवन करने से मनोकामना पूर्ण होगा …

संध्या आरती में उमड रहा भीड़——
———————————————————————

14 जनवरी को मकर संक्रांति के सुभ दिन से प्रारम्भ हुए इस महायज्ञ में प्रतिदिन संध्या आरती किया जाता है।
महायज्ञ स्थल में ही भव्य पंडाल का निर्माण कर माता दुर्गा माता काली भगवान शंकर जी की प्रतिमा स्तापित की गई है, मनमोहक पंडाल का दृश्य व अभी गुप्त नवरात्रि होने की वजह से रोजाना भक्तो का भीड़ संध्या आरती में उमड़ता है।
हजारो की संख्या में भक्त, भव्य आरती का आयोजन व माता की आरती का आनन्द लेते भक्त एक सांथ झुमते गाते है तब पूरा यज्ञ स्थल माता की भक्तिमय रंग में रंग जाता है।
माता रानी जा भव्य पंडाल महायज्ञ स्थल व महाआरती भक्तो के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

बाबा जी का महाआरती का अनोखा अंदाज—
—————

महायज्ञ में महाआरती में कम्बल वाला बाबा जी के आरती का अनोखा अंदाज देखने को मिला, बाबा जी ने आज आरती के दौरान पूरे 1.30 घण्टे तक माता के पंडाल से लेकर महायज्ञ पंडाल तक हाँथ में रुई जला माता जी का आरती किया जिसे देख भक्त अचंभित रह गया।
इससे पहले हवन पूजन प्रारम्भ के दिन जल से अग्नि प्रज्वलन कर भक्तो को अपनी शक्ति दिखाया था।

गुप्त नवरात्रि का महत्व——-
———————————————————————

1008 कुंडीय शिव शक्ति महायज्ञ के प्रधान यगाचार्य आचार्य श्री रामदास जी महराज ने बताया कि माता दुर्गा का गुप्तनवरात्री प्रारम्भ हो गया है, जिसपे माता जी के पूजा का विशेष लाभ मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *