Sharing is caring!

बिहार: बोधगया में महाबोधि मंदिर के पास दो जिंदा बम बरामद, बोधगया में हैं बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा
जिस कालचक्र मैदान के पास बम बरामद हुए उसी जगह थोड़ी देर पहले दलाई लामा प्रवचन दे रहे थे. दलाई लामा को महाबोधि मंदिर में ठहराया गया है.
बोधगया: बिहार के बोधगया में महाबोधि मंदिर के पास बम मिलने से हड़कंप मच गया. तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा इस समय बोधगया में ही हैं ऐसे में बम मिलने की खबर से पुलिस अलर्ट हो गई. तुरंत मौके पर पुलिस पहुंची और बम निरोधक दस्ता बम को डिफ्यूज करने के लिए अपने साथ ले गया. दोनों बम 10-10 किलो के थे.
महाबोधि मंदिर के पास कालचक्र मैदान में ये बम मिले. दरअसल कालचक्र मैदान में बने रसोईघर के पास एक थरमस में छोटा सा धमाका हुआ था. इस धमाके के बाद सुरक्षा में तैनात पुलिस वहां पहुंची. आसपास के इलाकों की तलाशी शुरू हुई तो ये बम बरामद हुए. पुलिस ने तुरंत बम निरोधक दस्ते को बुलाया. बम निरोधक दस्ता बमों को डिफ्यूज करने अपने साथ ले गया.

बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा एक महीने के प्रवास पर अभी बोधगया में ही हैं. जिस कालचक्र मैदान के पास बम बरामद हुए उसी जगह थोड़ी देर पहले दलाई लामा प्रवचन दे रहे थे. दलाई लामा को महाबोधि मंदिर में ठहराया गया है. महाबोधि मंदिर से सिर्फ 100 मीटर दूर ही ये बम बरामद हुए हैं.

दलाई लामा के प्रवास को देखते हुए अभी बोधगया में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है. ऐसे में बम बरामद होना सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहा है.

2013 में भी महाबोधि मंदिर के पास सीरियल ब्लास्ट हुए थे. उस धमाके में दो बौद्ध भिक्षु जख्मी हुए थे. धमाकों में इंडियन मुजाहिदीन का हाथ था. उस घटना के बाद से महाबोधि मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी, लेकिन एक बार फिर बम मिलने से चाक चौबंद सुरक्षा की पोल खुल गई है.

Sharing is caring!