Sharing is caring!

मप्र निकाय चुनाव bjp को लगा झटका: राघौगढ़ के 24 में से 20 सीटों पर कांग्रेस का कब्जा
मध्यप्रदेश में 6 जिलों के 20 नगरीय निकाय चुनाव की काउंटिंग शुरू चुकी है, राघौगढ़ नगर पालिका चुनावों में कांग्रेस ने 24 में से 20 वार्ड जीत लिए हैं। वहीं भाजपा सिर्फ 4 वार्डों में ही सिमट गई है. मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा को तगड़ा झटका लगा है। गुना जिले के राघौगढ़ नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस ने 24 में से 20 वॉर्ड पर जीत दर्ज की है, जबकि भाजपा चार वॉर्ड पर कब्जा जमा पाई। नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस की जबरदस्त जीत ने पार्टी का मनोबल बढ़ाने का काम किया है, वहीं भाजपा को आइना भी दिखाया है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का गृहनगर होने से यहां का नपा चुनाव प्रदेशभर में चर्चित रहा। वहीं इस बार चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी प्रचार के लिए आए और उनकी सभा के बाद कांग्रेस-भाजपा कार्यकर्ताओं में झड़प भी हुई।

इनके अलावा चुनाव में भाजपा के केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व वरिष्ठ नेता प्रभात झा भी आए। कांग्रेस की तरफ से विधायक जयवर्धन सिंह ने मोर्चा मुख्य रुप से संभाला। हालांकि, अंतिम दिन पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह भी उनके साथ नजर आए थे। मतगणना के लिए पुलिस ने खासे इंतजाम किए हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी आरती शर्मा की जीत

अध्यक्ष पद के लिए मैदान में उतरीं कांग्रेस प्रत्याशी आरती शर्मा ने भाजपा की मायादेवी अग्रवाल को भारी मतों से हराया है। इस जीत के बाद कांग्रेस में जश्न का माहौल बना हुआ है। कांग्रेस की भारी-भरकम जीत ने भाजपा को आत्मचिंतन करने पर मजबूर कर दिया है।राघोगढ़ में कांग्रेस को मिली जीत पर दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह ने बयान दिया है. ”निकाय चुनाव में बीजेपी ने अपना पूरा ताकत झोंका, बाहरी नेताओं ने तक यहां डेरा डाला लेकिन जनता ने सिर्फ कांग्रेस पर भरोसा किया. विधानसभा आम चुनाव से पहले निकाय चुनाव की जीत कांग्रेस के लिए संजीवनी का काम करेगी”

दिग्विजय सिंह का गृहनगर है गुना

बता दें कि पिछले 20 वर्षों से राघौगढ़-विजयपुर नगर पालिका परिषद पर कांग्रेस का कब्जा रहा है। मोदी लहर के बावजूद इस बार भी कांग्रेस ने अपने गढ़ को बचाए रखा है। गुना जिला पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का गृहनगर है, जिस कारण यहां का चुनाव प्रदेशभर में चर्चित रहा। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए इस बार नगर पालिका चुनाव के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी प्रचार करने के लिए गुना पहुंचे थे। सीएम की सभा के बाद भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प भी हुई।

सिर्फ सीएम ही नहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता भी कांग्रेस के गढ़ में कमल खिलाने की कोशिश में जुटे दिखे। चुनाव के दौरान केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से लेकर वरिष्ठ नेता प्रशात झा भी प्रचार में शामिल हुए। कांग्रेस की तरफ से विधायक जयवर्धन सिंह ने मोर्चा मुख्य रुप से संभाला हुआ था। लेकिन इसके बावजूद भाजपा को मुंह की खानी पड़ी।

Sharing is caring!