Sharing is caring!

अहमदाबाद में पद्मावत को लेकर हंगामा,3 मॉल में तोड़फोड़,करणी सेना ने बाइक जलाई, कारें भी तोड़ी

अहमदाबाद के मल्टीप्लेक्स हिमालयन मॉल में भीड़ ने अचानक से आकर फिल्म पद्मावत को लेकर हंगामा खड़ा कर दिया। भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने 2 राउंड हवाई फायरिंग की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मॉल में करणी सेना के लोगों ने सामानों की तोड़फोड़ की है। फिल्म के विरोध में उतरे लोगों ने 50 से ज्यादा गाड़ियों में आग लगा दीं और कई दुकानों को भी जलाया है। हादसे के वक्त मॉल में और आस-पास करीब 2 हजार से ज्यादा लोग मौजूद थे। इन सभी लोगों ने अपनी गाड़ियों और बाइकों को मॉल के बाहर पार्किंग पर लगाया था, जिन्हें विरोध कर रहे लोगों ने आग के हवाले कर दिया। इन लोगों ने मॉल में फिल्म न दिखाए जाने के बावजूद भी हंगामा खड़ा किया है। वही पुलिस ने हिंसा करने वाले 16 लोगों को गिरफ्तार भी किया लेकिन ब तक भीड़ पर काबू पाया तब तक काफी नुकसान हो चुका था. हिंसा को ना रोक पाना गुजरात पुलिस पर कई सवालिया निशान लगाता है.बता दें कि करणी सेना के कुछ लोग शहर के हाईवे को जाम कर रहे हैं। सेना के लोगों के ऐसा करने पर जिन लोगों का नुकसान हुआ है वह गुजरात पुलिस पर सवाल उठा रहे हैं। हालांकि बाद में गुजरात पुलिस ने हंगामा करने वाले करीब 30 लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं करणी सेना के चीफ लोकेंद्र का कहना है कि इस घटना के पीछे उनके लोगों का कोई हाथ नहीं है।रिलीज से एक दिन पहले विवादों में घिरी फिल्म पद्मावत के पेड प्रिव्यू आज शाम देश भर के सिनेमाघरों में आयोजित किए गए हैं. आधिकारिक तौर पर फिल्म 25 जनवरी को रिलीज़ हो रही है लेकिन एक दिन पहले मेकर्स ने एक दिन पहले यानी 24 जनवरी को इसका प्रिव्यू शो आयोजित किया है. यह प्रिव्यू शो भुगतान करके कोई भी देख सकेगा. सूत्रों की मानें तो इस पेड प्रिव्यू का आयोजन करने का मकसद फिल्म को लेकर लोगों की सकारात्मक प्रतिक्रिया हासिल करना है.

padmaavat protest 02संसद, सुप्रीम कोर्ट पर हमले की धमकी, हुआ देशद्रोह का केस

सोशल मीडिया में भी फिल्म का विरोध किया जा रहा है। इसमें अखिल भारतीय क्षत्रिय संगठन का एक वीडियो सामने आया है, वीडियो में संगठन की युवा इकाई का उपाध्यक्ष संसद, सुप्रीम कोर्ट पर हमले की धमकी देता हुआ नजर आ रहा है। हालांकि मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने आरोपी शख्स के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज कर लिया है। आरोपी की पहचान भुवनेश्वर सिंह के रूप में की गई है। वीडियो में उसने आरोप लगाया कि सुप्रीम कोर्ट ने पद्मावती की तुलना बैंडिट क्वीन से की है। वीडियो में संगठन के उपाध्यक्ष ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अन्य मंत्रियों की हार सुनिश्चित करने की धमकी भी दी है। वहीं फरार आरोपी की तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार आरोपी के खिलाफ बीते रविवार (21 जनवरी, 2017) को बरेली पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 124 (a), 506 और आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

Sharing is caring!