October 26, 2021
Breaking News

संवेदना जुबां पर, जश्न व्यवहार में, प्रदेश शोक व आक्रोश में, बीजेपी कार्यकर्ता जश्न मनाते रहे,कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी

 

संवेदना जुबां पर, जश्न व्यवहार में, प्रदेश शोक व आक्रोश में, बीजेपी कार्यकर्ता जश्न मनाते रहे,कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी

नक्सलवाद से जंग हार चुके प्रदेश के मुखिया का एयरपोर्ट में भाजपा नेताओं ने स्वागत किया, चार जवानों की शहादत के बाद भी मुस्कुरा रहे थे मुख्यमंत्री श्री डॉ. रमन सिंह-विकास तिवारी


रायपुर/25 जनवरी 2018। छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि कल जहाँ एक ओर नारायणपुर में नक्सली हमले में पुलिस के 4 जवान शहीद हो गये और कई जवान घायल, वही दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की असंवेदनशीलता स्वामी विवेकानंद हवाई अड्डे पर दिखी जहाँ वो आस्ट्रेलिया यात्रा के बाद आये और मुस्कुराते हुए उन्होंने भाजपा नेताओं का अभिवादन किया जो तश्वीर से जो साफ झलक रहा है। यह तश्वीर उस वक़्त की है, जब लालगढ़ से चार शहीद जवानों के शव के साथ 11 घायल जवानों को राजधानी के एक निजी अस्पताल लाया गया था। घायल जवान अस्पताल में दर्द से कहार रहे थे। वहीं विमानतल पर अपने विदेश दौरे से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह लौटे थे। जहां कुछ वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने उनका शाल श्रीफल और फूल-माला देकर उत्साह से स्वागत किया। जहाँ एक ओर मोदी सरकार कहती थी कि एक जवान के बदले दस उग्रवादी का सफाया करेंगे वही दूसरी ओर खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री अपने स्वागत सत्कार के कार्यक्रमो में व्यस्त है,और केवल खानापूर्ति के लिये कड़ी निंदा वाला बयान जारी कर रहे है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि सोशल मीडिया में भाजपा नेता और अपेक्स बैंक के श्री अशोक बजाज द्वारा साझा किये गए एक तस्वीर में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को फूल-मालाओं और शाल, पगड़ी पहने मुस्कुराते हुये दिखाया है, जबकि उनकी ही सरकार के नाकामी और अकर्मण्यता के कारण चार जवान शहीद हो गये। प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा की छत्तीसगढ़ के बेटे घन घोर जंगलों में नक्सलवाद से लोहा ले रहे है, वही मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह उसी बस्तर की सम्पदा के बंदरबाट करने के लिये विदेश भ्रमण कर रहे है, छलावा कर रहे है। विकास तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह चाहते तो नक्सलवाद को कब का खत्म कर देते। लेकिन उनकी सरकार के लचर आचरण उनकी मदद कर नक्सलवाद को बढ़ावा दे रहे है। ताकि रमन सरकार गरीब आदिवासियों की जल, जंगल और जमीन बडे उद्योपतियों के हाथों में बेच सकें और मोटा कमीशन वसूल कर सके।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि लालगढ़ में नक्सलियों की गोली से ढ़ेर हुए जवानों को देखने जिस गंभीरता से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अस्पताल पहुंचे थे। वो गंभीरता मुख्यमंत्री के चेहरे पर एयरपोर्ट पर नही दिखी, वो मुस्कुरा रहे थे, स्वागत सत्कार से खुश दिख रहे थे। पार्टी के कार्यकर्ता डॉ. सिंह के स्वागत में ऐसे पहुंचे थे जैसे सीएम रमन ऑस्ट्रेलिया से कोई जंग जीत लौटे हो। वही स्वागत की बेला में एयरपोर्ट पहुंचे भाजपा नेता जवानों की सुध लेना छोड़ अपनी नम्बर बढ़ाने की कवायद में लगे रहे और हो भी क्यों न इस समय प्रदेश में चुनावी की खुमारी नेताओं के सर चढ़ चुका है। प्रदेश नक्सलियों के आतंक से भयभीत है, वही सरकार के मुखिया और उनकी भारतीय जनता पार्टी के नेता खुशियां मनाने में मशगूल है, स्वागत सत्कार में व्यस्त है, भाजपा सरकार जवानों की मौत पर केवल झूठी सहानुभूति दिखती है,अगर मुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के लोग जवानों की शहादत से दुःखी होते तो वो कदापि ढोल-तासो,फूल मालाओं, शाल-श्रीफल से मुख्यमंत्री का स्वागत सत्कार नही करते क्योकि दुख और शहादत के समय खुशियां नही मनाई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *