October 26, 2021
Breaking News

जशपुर मनोरा के डड़गांव में लगा जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में कलेक्टर ने कहा शिक्षा आगे बढ़ने की पहली सीढ़ी

जशपुर मनोरा के डड़गांव में लगा जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में कलेक्टर ने कहा शिक्षा आगे बढ़ने की पहली सीढ़ी

हरित छत्तीसगढ़ जशपुर / जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर शनिवार को मनोरा जनपद के ग्राम डड़गांव में आयोजित हुआ। शिविर में ग्रामीणों को विभिन्न योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही उन्हें विभागीय योजनाओं से लाभांवित किया गया। शिविर में पेंशन, राशन कार्ड से संबंधित आवेदन अधिक आए जिस पर कलेक्टर डाॅ. शुक्ला ने संबंधित अधिकारियों  को गांव में शिविर लगाकर आवेदनों का निराकरण करने के निर्देश दिए। इस मोके पर कलेक्टर डाॅ प्रियंका शुक्ला ने कहा कि यदि सभी ग्रामीण यह तय कर लें कि गांव के हर भोज या कार्यक्रम में कुपोषित बच्चों को सबसे पहले भोजन कराया जाएगा तो कुपोषित बच्चों की संख्या अवश्य कम होगी। शिक्षा के महत्व पर कहा कि शिक्षा आगे बढ़ने की पहली सीढ़ी है। हर दिन बच्चों को स्कूल भेजें। साथ ही सभी से आग्रह किया कि वे हर रोज अपने बच्चों से अवश्य पूछे कि आज स्कूल में क्या पढ़ाई हुई। कलेक्टर ने कहा कि आप अपने बच्चों को नियमित शिक्षा दें और बालिकाओं की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें।
इसके अलावा लोगों को स्वच्छता का महत्व बताते हुए कहा कि स्वच्छता हमारे लिए बेहद जरूरी है। शौचालय का नियमित उपयोग करने से बीमारी से बचाव होता है। उन्होंने कहा कि अगली पीढ़ी को स्वच्छ वातावरण दें और बच्चों में बचपन से ही अच्छी आदतों का विकास करें। उन्होंने 18 वर्ष से 45 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों को मुख्यमंत्री कौशल विकास से प्रशिक्षण लेकर रोजगार प्राप्त करने कहा। आंगनबाड़ी के संचालन के संबंध में पूछे जाने पर ग्रामीणों ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्र समय पर नहीं खुलता है। इस पर कलेक्टर ने महिलाएवं बाल विकास विभाग की अधिकारी को उक्त आंगनबाड़ी केन्द्र के कर्मचारियों पर कार्यवाही करने का निर्देश दिया।
जिला पंचायत सीईओ श्री कुलदीप शर्मा ने कहा कि शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ का अवश्य लें। जब तक आप सभी योजनाओं के बारे जानकारी नहीं लेंगे तब तक योजनाओं का लाभ नहीं उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि जनसमस्या निवारण शिविर दूरस्थ क्षेत्रों में लगाया जाता है ताकि जो लोग जिला मुख्यालय या जनपद मुख्यालय नहीं आ पाते उन तक शासन की योजनाएं पहुंचाई जा सके। श्री शर्मा ने कहा कि डड़गांव ग्राम पंचायत पहाड़ो से घिरी हुई है और यहां पानी रूकने में समस्या होती है। उन्होंने गांव वालों से आग्रह किया कि वे डबरी और तालाब के लिए आवेदन करें। डबरी और तालाब के निर्माण से गांव में पानी एकत्रित किया जा सकेगा।
जनसमस्या निवारण शिविर में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना अंतर्गत डड़गांव ग्राम पंचायत की श्रीमती अनिता भगत, श्रीमती कृपा एक्का, श्रीमती फ्लोरा तिकी, श्रीमती किशो बाई, श्रीमती सुखमनी बाई, श्रीमती लीलावती बाई, श्रीमती मनप्यारी बाई, श्रीमती गुप्ती बाई, श्रीमती रोशलिना, श्रीमती लालमईत तिर्की और कांटाबेल श्रीमती मंगनी बाई, श्रीमती केबली बाई, श्रीमती किरण कुजूर सहित कुल 65 महिलाओं को गैस कनेक्शन वितरित किया गया। साथ ही कई वृद्धजनों के लिए वृद्धा पेंशन स्वीकृत किया गया। शिविर में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण किया गया जिसमें लगभग 50 लोगों की जांच शिविर स्थल में की गई।
शिविर में कुल 100 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए थे। कलेक्टर ने संबंधित विभागों को समय सीमा में कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं। शिविर में डड़गांव सरपंच श्री संजय राम भगत, स्थानीय जनप्रतिनिधि, सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *