July 24, 2021
Breaking News

अभी परखे आपके पास रखे दो हजार और पांच सौ के नोट कहि नकली तो नही रायपुर पुलिस ने क्षेत्र में भारी मात्रा में नकली नोट खापने वाले गिरोह को पकड़ने में सफलता पाई है पकड़े गए आरोपियों ने नोटबन्दी के बाद से ही नकली नोट का कारोबार करना शुरू कर दिया था कई महीनों से छत्तीसगढ़ के क्षेत्र में सक्रिय थे वे

हरित छत्तीसगढ़ रायपुर। पुलिस ने नकली नोट बनाने वाले रायपुर के दो लोगों को दो लाख के नकली नोट,कलर प्रिंटर मय स्केनर पकड़ने में सफलता पाई है इनके द्वारा कई महीनों से रायपुर समेत प्रदेश के अन्य जिलों और मध्य प्रदेश के जिलों में नकली नोट खपाया जा रहा था।पकड़े गए दोनो आरोपी रायपुर के है वही एक अन्य आरोपी अभी फरार है। इस सम्बंध में मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश के कटनी पुलिस ने रायपुर पुलिस को सूचना दी कि रायपुर से भारी मात्रा में नकली नोट लाकर इलाके में खपाया जा रहा है, रायपुर क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले की गम्भीरता को देखते हुए ए एस आई चेतन दुबे के नेतृत्व में टीम गठित कर नकली नोट का कारोबार करने वाले की पतासाजी करनी शुरू कर दी इस मामले में कटनी पुलिस से सम्पर्क कर उन्हें रायपुर बुलाकर संदेहियों की जानकारी जुटाते हुए एक संदेही विशाल एशवानी पिता सेवाराम ऐशवानी को दुर्ग रेलवे स्टेशन से हिरासत में लेकर नकली नोट के सम्बंध में पूछताछ करने शुरू कर दिया तो उसने नकली नोट का कारोबार करने से इनकार कर दिया चूंकि पुलिस के पाश सूचना पुख्ता थी पुलिस ने उसके पंडरी स्थितकिराये के मकान में सन्देह के आधार पर तलाशी ली तो वह से स्केनर प्रिंटर मशीन और दो लाख के नकली नोट बरामद किये इसके बाद एशवानी ने अपराध कुबूल करते हुए बताया कि वह तीस हजार के बदले एक लाख के नकली नोट देता है ओर अपने साथी इमरान कुरैशी और अनिल पंजवानी के सहयोग से लगभग दस महीनों से क्षेत्र के बाजार में भारी संख्या में नकली नोटका सौदा कर चुके है पुलिस ने उसके साथी इमरान कुरैशी गुलशन अपार्टमेंट राजा तालाब को भी हिरासत में लिया है वही एक साथी अनिल पंजवानी तेलीबांधा फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *