October 18, 2021
Breaking News

कासगंज हिंसा राहुल के मौत की सोशल मीडिया पर झुठी अफवाह 

कासगंज हिंसा राहुल के मौत की सोशल मीडिया पर झुठी अफवाह

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। यूपी के कासगंज में भड़की हिंसा के दौरान दो युवकों की मौत की खबर सामने आ रही थी, जिसमें चंदन गुप्ता और राहुल उपाध्याय नाम के दो युवक शामिल थे, लेकिन इस बीच एक और चौकाने वाली खबर आई है कि राहुल उपाध्याय मरा नहीं है बल्कि जिंदा है।

इसकी जानकारी अलीगढ़ रेंज के आईजी संजीव गुप्ता ने दी। साथ ही उन्होंने कहा कि राहुल के मौत की सोशल मीडिया पर झुठी अफवाह फैलाने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार भी किया है। बता दें कि जारी हिंसा के बीच कहा जा रहा था कि चंदन गुप्ता के अलावा राहुल उपाध्याय की भी मौत हो गई है।

कासगंज से करीब 10 किलोमीटर दूर स्थित नगलागंज गांव का राहुल उपाध्याय रहने वाला है। इस मामले में राहुल ने कहा कि वो गणतंत्र दिवस के दिन जब कासगंज में हिंसा भड़की तो वो अपने घर में थे। साथ ही में राहुल ने उस बात को भी खारिज किया जिसमें कहा जा रहा था कि राहुल को गंभीर हालत में अलीगढ़ के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

जांच के दौरान पुलिस को राहुल के शरीर पर एक भी निशान नहीं मिला है। राहुल ने आगे कहा कि इंटरनेट सेवा बंद होने की वजह से उन्हें अपनी मौत की अफवाह की जानकारी नहीं मिल पाई जिसके कारण वो इसका खंडन नहीं कर पाए। उन्होंने बताया  कि उनके मौत के खबर के बारे में रिश्तेदारों और दोस्तों ने फोन करके  उन्हें बताया।

बता दें कि कासगंज हिंसा के बाद चंदन गुप्ता के अलावा राहुल उपाध्याय की मौत की बात भी सोशल मीडिया पर कही जा रही थी। फेसबुक पोस्ट्स के दावों में कहा गया था कि हिंसा में घायल होने के बाद अलीगढ़ के अस्पताल में भर्ती किए गए राहुल उपाध्याय की भी मौत हो गई है। स्थिति ऐसी है कि बदायूं और आसपास के जिलों में विभिन्न संगठन राहुल की श्रद्धांजलि सभा भी आयोजित कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *