October 18, 2021
Breaking News

दूरस्थ ग्राम ग्राम कोनगुड़ एवं कोटपाड़ के छात्र अब पढेंगे नए स्कूल भवनों में

दूरस्थ ग्राम ग्राम कोनगुड़ एवं कोटपाड़ के छात्र अब पढेंगे नए स्कूल भवनों में
जिला कलेक्टर की उपस्थिति में हुआ नए भवनों का शुभारंभ
शिक्षा ही संपूर्ण विकास का मूलमंत्र – कलेक्टर
कोण्डागांव, 30 जनवरी 2018
शाला भवनों की कमी से जुझ रहे विकासखण्ड फरसगांव के सुदूर वनांचल ग्राम कोनगुड़ एवं कोटपाड़ के दसवी, ग्यारहवी एवं बारहवी के छात्र अब नवनिर्मित शाला भवन के उन्मुक्त वातावरण में शिक्षा ग्रहण करेंगे। दिनांक 29 जनवरी को जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम की उपस्थिति में उक्त दोनो ग्रामों के हाईस्कूल छात्रों को नए शाला भवन की सौगात मिली। ज्ञात हो कि कोनगुड़ ग्रामवासियों के द्वारा नए शाला भवन की मांग एक अरसे से की जा रही थी। इसके पूर्व वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर हाईस्कूल गांव के ही छात्रावास से संचालित हो रही थी। जहां छात्रों के बैठने की जगह की तंगी तो थी ही साथ ही विद्यार्थियों की माने तो वर्षा के दिनों में छत से पानी टपकने की बात आम थी। जिला कलेक्टर द्वारा इस क्षेत्र में प्रथम प्रवास के दौरान ग्रामवासियों द्वारा हाईस्कूल हेतु नए शाला भवन की मांग से अवगत कराया गया था और कलेक्टर ने चालू सत्र से ही इसे शीघ्र प्रारंभ करने की बात कही थी। इस परिप्रेक्ष्य में नए शाला भवन की मांग पूर्ण होने से छात्रों में हर्ष का माहौल था और उन्होंने जिला कलेक्टर को इसके लिए धन्यवाद भी ज्ञापित किया। जिला कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने इस मौके पर छात्रों से आगामी परीक्षा परिणाम को बेहतर से बेहतर बनाने की नसीहत देते हुए कहा कि शासन ग्रामीण छात्र-छात्राओं को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए सरस्वती साईकिल योजना, मध्यान्ह भोजन योजना, निःशुल्क गणवेश योजना, निःशुल्क पाठ्य पुस्तक प्रदाय योजना पुस्तकालय योजना, व्यवसायिक शिक्षा योजना, विकलांग बच्चों की समावेशी शिक्षा योजना के माध्यम से हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जहां उन्हें निःशुल्क आवास भोजन वस्त्र और चिकित्सा सुविधा प्रदाय की जा रही है। अब छात्रों का भी दायित्व है कि वे शासन की आशानुरुप परीक्षाओं में शानदार प्रदर्शन कर योजनाओं को सार्थक बनाये। दरअसल शिक्षा ही विकास का मूलमंत्र है। शासकीय योजनाओं से लाभ कैसे लेना है। यह एक शिक्षित व्यक्ति की समझ सकता है। इसके अलावा शिक्षको की भी जिम्मेदारी है कि वे पूर्ण निष्ठा से छात्रों में ज्ञानवर्धन करने के साथ ही उन्हें लक्ष्य के प्रति प्रेरित करें।
उल्लेखनीय है कि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कोनगुड़ में बारदा, बोकराबेड़ा, परोदा, कन्हारगांव, पोलपा, काटागांव के लगभग 200 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत है। इसी प्रकार ग्राम कोटपाड़ के हायरसेकेण्डरी स्कूल में मांदागांव, बोथा, तोरण, गोड़मा, पावड़ा, खण्डाम, बड़कड़ा जैसे वनांचल के छात्र पढ़ने आते है यहां पर भी नए शाला भवन के लोकार्पण से छात्रो को अध्ययन की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसके अलावा अब कोनगुड़ के ग्रामीणों को जिला प्रशासन की पहल पर बैंकिग व्यवस्था की सुविधाएं प्राप्त होंगी। जिला प्रशासन ने बैंकिग व्यवस्था को संचालित करने के तहत वीसेट एवं इंटरनेट के माध्यम से ग्रामीणों के बचत खाते की जानकारी कोनगुड़ से ही प्राप्त करने की सुहलियत दे दी है। अब स्थानीय ग्रामीण अपने बचत खाते की जानकारी पंचायत से प्राप्त कर सकेंगे। इसके पूर्व उन्हें इसकी जानकारी हेतु लगभग 15 कि.मी. दूर बड़ेडोंगर ग्राम जाना पड़ता था। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर धनजंय नेताम, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास जी.आर.सोरी, राजीव गांधी शिक्षा मिशन समन्वयक परमजीत संघे, बी.एस.गौतम उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *