October 22, 2021
Breaking News

पत्थलगांव की जर्जर सडक PM मोदी के ऑफिस में शिकायत पर, सडक सुधारने चीफ इंजीनियर को मिले निर्देश

harit chhattisgarh patthalgaon. सड़क  की समस्या हो या फिर अस्पताल  की बात लोग सीधे प्रधानमंत्री पोर्टल पर जाकर शिकायतें भेज रहे हैं। तकनीकी सेवाओं को लेकर जागरूक हुए लोगों ने अपनी समस्याओं को नीचे से ऊपर तक पहुंचाने का तरीका तलाश लिया है। जिसके तहत लोगों की शिकायतों पर उन्हें समस्या का समाधान हासिल हुआ है।

बीते साल स्थानीय युवाओ के द्वारा पत्थलगांव की सडको से उठ रहे धुल के गुबार और जानलेवा गड्ढे से निजाद दिलाने की गुहार प्रधानमंत्री कार्यालय के पास शिकायत रजिस्टर्ड कराया गया था जिस पर प्रधानमंत्री कार्यालय ने गम्भीरता पूर्वक विचार करते हुए नेशनल हाईवे के मुख्य अभियंता को पत्र प्रेषित कर सडक को गुडवत्ता पूर्वक सुधार कार्य करते  हुए शिकायत का निपटारा करने को कहा है,  हालाँकि स्थानीय युवक मुकेश सिन्हा,विवेक तिवारी,संजय तिवारी ने अक्तूबर महीने में ही प्रधानमंत्री कार्यालय को शिकायत पंजीबद्ध कराया था जो अब ग्यारह महीने के बाद निपटारे हेतु नेशनल हाईवे के मुख्य अभियंता को पत्र  प्रेषित हुवा है बहरहाल ग्यारह महीने पूर्व शहर की सड़के जिस हालत में थी अभी भी उससे बदतर हालात में आ गये है ऐसे में वर्तमान में यदि शिकायत पत्र का निपटारा करने अधिकारी पहुंचते है तो उन्हें सड़क बीते साल से भी  ज्यादा दुर्दशा में मिलेगी, वही प्रधानमंत्री कार्यालय से शिकायत पर हुवे कार्यवाही में काफी लेट हो जाने के बाद भी युवा काफी खुश दिखाई डे रहे है  क्योंकि प्रधानमंत्री कार्यालय में ऐसी बहुत सारी लोक शिकायतें रोजाना रजिस्टर्ड होती है  जो विभिन्न मंत्रालयों/ विभागों या राज्य सरकारों से संबंधित हैं। ऐसी शिकायतों को कार्यालय के पब्लिक विंग द्वारा संबंधित मंत्रालयों/विभागों या राज्य सरकारों को प्रेषित कर दिया जाता है। युवाओ का कहना  था की इस पुरे प्रक्रिया में लेट लतीफी होना आम बात है कम से कम  प्रधानमंत्री कार्यालय  से शिकायत पत्र पर देर से ही सही कार्यवाही तो होती है यह तो नगर के सेकड़ो मुद्दों पर धरना ज्ञापन और शिकायत पत्र भेजने के बाद नही राज्य शाशन के तरफ से आश्वाशन तो दूर अधिकारियों के कानो में जू तक नही रेंगती/

इस तरह भेजें शिकायत

पीएमओ पोर्टल राइट टू कनेक्ट पर शिकायत दर्ज कराने के लिए इंटरनेट पर बेवसाइट उपलब्ध है। इस साइट पर पहले पंजीकरण कराना होगा। शिकायतकर्ता को अपनी शिकायत लिखनी होगी। इसके अलावा अपना ईमेल पता भी देना होगा और मोबाइल नंबर भी। ताकि संबंधित विभाग शिकायतकर्ता से संपर्क कर सकें।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *