Sharing is caring!

Image result for पकड़उआ' शादीबिहार में ‘पकड़उआ शादी’ (लड़के को अगवा कर जबरदस्ती कराई जाने वाली शादी) कोई नई बात नहीं है। ‘पकड़उआ शादी’, जिसका मतलब है लड़के को बंधक बनाकर जबरदस्ती शादी कराना। इसी कड़ी में बिहार में पिछले साल 3405 युवकों की जबरन शादी करा दी गई।

यह कई लोगों के लिए एक सांस्कृतिक झटका हो सकता है, लेकिन आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पिछले साल बिहार में स्थानीय रूप से प्रसिद्ध पकड़ुआ शादी के लिए 3,400 से अधिक युवाओं का अपहरण किया गया. एक पुलिस अधिकारी ने रविवार को कहा कि पकड़ुआ शादी बिहार में बड़े पैमाने पर होता रहा है. राज्य में लगभग 3,405 का अपहरण पकड़ुआ शादी के लिये किया गया. ज्यादातर मामलों में पकड़उआ शादी में दुल्हे को बंदुक की नोंक पर रखकर शादी करायी जाती है या फिर उनके जीवन और परिवार वालों पर खतरा बना कर इस तरह की शादी करवायी जाती है.शादी में पटना गए युवक की ‘पकड़उआ’ शादी  
पिछले दिनों पटना के पंडारक जिले में झारखंड के बोकारो स्टील सिटी में बतौर जूनियर मैनेजर कार्यरत जूनियर इंजीनियर विनोद का अपहरण कर जबरन शादी कराने का मामला सामने आया था। बताया जाता है कि विनोद विनोद तीन दिसंबर को एक दोस्त की शादी में शामिल होने के लिए नालंदा के इस्लामपुर पहुंचे थे। उसी दौरान लड़की के रिश्तेदारों ने धोखे से उन्हें गाड़ी में बिठाया और अपने घर चाय पिलाने के बहाने ले गए। इसी दौरान हथियारों से लैस लोगों ने उनका मोबाइल फोन छीन लिया। उन्होंने दोनों के साथ मारपीट की और जबरन शादी करा दी थी।

बिहार में रोज नौ विवाह जबरन कराये जाते हैं

पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार बिहार में अमूमन हर रोज नौ विवाह जबरन होते हैं. इसको लेकर पुलिस मुख्यालय ने सभी एसपी को शादी के सीजन में खास सतर्क रहने को कहा है साथ ही उनकी रोकथाम के उपाय करने के निर्देश दिया गया है. ताकि इस तरह के अपराध पर नियंत्रण किया जा सके. गौरतलब है कि बिहार में जबरन विवाह से संबंधित अपहरण का ग्राफ 70 प्रतिशत है. अपहरण कर शादी करने की वारदातों को दहेज से भी जोड़कर देखा जाता है. बहुत लोगों का मानना है कि इस तरह के अपहरण दहेज के कारण हो रहे हैं.  इस तरह की शादी में लड़की के परिवार वालों के द्वारा लड़के का अपहरण किया जाता है और जबरन बलपूर्वक लड़के की शादी अपनी लड़की से करा दी जाती है. उल्लेखनीय हे की लड़की वाले पकड़ुआ शादी के लिये अपने परिजनों, मित्रों या फिर किसी पेशेवर अपराधी की मदद लेते हैं ताकि लड़के का अपहरण किया जा सके.इनकी बढ़ती संख्या को देखते हुए सभी पुलिस प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। इसी के मद्देनजर पुलिस अधीक्षकों को ‘लगन’ में ऐसे विवाहों को लेकर अलर्ट रहने और ऐसी वारदातों को रोकने के निर्देश दिए गए है।

Sharing is caring!