October 18, 2021
Breaking News

पत्थलगांव मे उरांव समाज ने क्यो कहा कांग्रेस गे बोट अम्बोत चिआ 👈🏻 मतलब कांग्रेस को बोट नही देगें पढ़े ………………….उरांव समाज खफा होने से कांग्रेसी नेता चिंतित

पत्थलगांव मे उरांव समाज ने क्यो कहा कांग्रेस गे बोट अम्बोत चिआ मतलब कांग्रेस को बोट नही देगें पढ़े
उरांव समाज खफा होने से कांग्रेसी नेता चिंतित
बेरोजगार उरांव समाज के लोग अपनी राजनैतिक उपेक्षा से व्यथित, संगठन सुदृढ़ करने पर जोर

हरित छत्तीसगढ़ विवेक तिवारी पत्थलगांव/

उरांव समाज के लोगों ने राजनीति के क्षेत्र में अपनी लगातार उपेक्षा से व्यथित होकर इस बार सोच समझ कर ही अपना बोट देने की आवाज बुलंद कर देने से कांग्रेसी नेताओं की चिंता बढ़ा दी है। यहा  काडरों छातासराई में आयोजित उरांव समाज की बैठक में इस समाज के सभी प्रमुख लोगों के साथ वहा उपस्थित शासकीय कर्मचारियों ने भी अपनी एक जुटता को सुदृढ़ बना कर रखने का संकल्प लिया है।

कांग्रेस गे बोट अम्बोत चिआ
उरांव समाज की बैठक के दौरान वरिष्ठ नेता पटेल तिर्की ने बताया कि उरांव लोगों की भवनावों से कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी अरूण उरांव को अवगत करा दिया गया है। इस प्रमुख राजनैतिक दल की ओर से अभी तक कोई संकेत नहीं दिए गए हैं। ऐसे में उरांव समाज अब बार बार झुठे आष्वासनों पर ठगी का षिकार नहीं होगा। यहा उपस्थित सभी लोगों ने कुड़ुख बोली में कहा कि कांग्रेस गे बो अम्बोत चिआ ।

http://haritchhattisgarh.com/
कुड़ूख उरांव समाज के लोगों का आरोप है कि पत्थलगांव विधानसभा में उनकी सबसे अधिक संख्या होने के बाद भी पिछले 4 दषक से उन्हे कांग्रेस पार्टी ने अलग थलग कर दिया है। यहा पर विधानसभा का चुनाव से पहले राजनैतिक दल के दिग्गज नेताओं को सबक सिखाने के लिए इस बार उरांव समाज ने अपनी एकजुटता को सुदृढ़ करने का काम तेज कर दिया है।
एक पखवाड़ा के भीतर घरजियाबथान और काडरों में बड़ी बैठकें आयोजित कर प्रत्येक परिवार को सामाजिक संगठन से जोड़ने की मुहिम तेज कर दी है। उरांव समाज के वरिष्ठ नेता सहदेव निंकुज ने बताया कि विधानसभा का चुनाव से पहले हर बार उरांव समाज के उम्मीदवार को टिकिट देने का आष्वासन तो मिलता है,लेकिन इस वायदा को जल्द ही भूला दिया जाता है। उरांव समाज के नेता पास्कल पन्ना, नेहरू लकड़ा, प्रकाष मिंज ने इस बैठक में कहा कि पत्थलगांव क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी व्दारा विधानसभा, नगर पंचायत तथा अन्य चुनाव के वक्त उरांव समाज में साफ सुथरी छवि के लोगों की उपेक्षा कर दी जाती है। इस बात को लेकर ही उरांव समाज के लोगों ने जमकर आक्रोष व्याप्त है।
उरांव महिलाओं को भी मिले नेतृत्व haritchhattisgarh.com
यहा  जनपद सदस्य श्रीमती धनमति प्रधान ने कहा कि उरांव समाज में पढ़ी लिखी और भारी जनाधार से जुड़ी महिला होने के बाद भी उन्हे नेतृत्व करने की बात पर दूर कर दिया जाता है। उरांव समाज के दिग्गज नेताओं का कहना था कि उन्हे सबसे पहले अपना सामाजिक संगठन को सुदृढ़ बना कर चुनाव के वक्त सोच समझ कर निर्णय लेने की जरूरत है। ग्राम पंचायत बिरीमडेगा के सरपंच बिरेन्द्र एक्का, मुड़ापारा के सुरेन्द्र तिर्की,टिकेष्वर एक्का ने राजनैतिक दल के लोग आदिवासियों का विकास के नाम पर केवल घड़ियाली आंसु बहा रहे हैं। इस बैठक में उरांव समाज के लोगों ने संगठन को ही सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए प्रति माह बैठक आयोजित कर अपने लक्ष्य की समीक्षा करने की बात पर जोर दिया। मार्च माह में उरांव समाज की अगली बैठक कुकुरभुक्का गांव में आयोजित कर इसमें प्रत्येक परिवार की उपस्थिति को अनिवार्य किया गया है।
कांग्रेस गे बोट अम्बोत चिआ haritchhattisgarh.com
उरांव समाज की बैठक के दौरान वरिष्ठ नेता पटेल तिर्की ने बताया कि उरांव लोगों की भवनावों से कांग्रेस के छत्तीसगढ़ प्रभारी अरूण उरांव को अवगत करा दिया गया है। इस प्रमुख राजनैतिक दल की ओर से अभी तक कोई संकेत नहीं दिए गए हैं। ऐसे में उरांव समाज अब बार बार झुठे आष्वासनों पर ठगी का षिकार नहीं होगा। यहा उपस्थित सभी लोगों ने कुड़ुख बोली में कहा कि कांग्रेस गे बो अम्बोत चिआ ।

फोटो/ काडरो का सरई बगीचा में उरांव समाज की बैठक

1 thought on “पत्थलगांव मे उरांव समाज ने क्यो कहा कांग्रेस गे बोट अम्बोत चिआ 👈🏻 मतलब कांग्रेस को बोट नही देगें पढ़े ………………….उरांव समाज खफा होने से कांग्रेसी नेता चिंतित

  1. सामाजिक बैठक था रविवार होने के कारण मुझे भी अवसर मिल गया, मै जानता हूँ किसी भी पार्टी का नाम नही लिया गया है, भाजपा को भी उरांव लोग बीते बार बासन, बहना, पण्डरीपानी, कांसाबेल, लुड़ेग, पत्थलगांव छेत्र से वोट दिया गया जानते हैं आप उसका उपहार पत्थलगांव बीईओ के निगरानी में 2014 के युक्तियुक्तकरण पदस्थापना में उरांव गर्भवती बहनो, छोटे ब्च्चो की माताओं, गैर राजनीति गरीब परिवार के यादव, जो महकुल, कोई राउत, पैंकरा, गोड़ आदि सभी जातियों के साथ खुला अत्याचार हुआ, जबकि भारत का संविधान प्रत्येक नागरिक को समानता का अधिकार देता है, फिर भी परिवारवाद, के तहत गिन गिन कर अत्याचार ढाहा गया, हम हमारे उरांव समाज को सिर्फ संगठित करने के लिए आह्वान किए जाने वाले सभा का ही समर्थन करते हैं, यदि उरांव लोगों को कोई किसी निजी स्वार्थ के लिए बदनाम करने की मानसिकता वाले ही ऐसा पार्टी से जोड़कर हमें बदनाम कर रहा है,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *