October 19, 2021
Breaking News

कुगांरपाल  क्षेत्र में आगजनी  और पेड़ों की धड़ल्ले से कटाई 

कुगांरपाल  क्षेत्र में आगजनी  और पेड़ों की धड़ल्ले से कटाई

*बस्तर वन परिक्षेत्र  की उदासीनता से उजड़ रहे वन*

भानपुरी।  बस्तर वन परिक्षेत्र अधिकारी की उदासीनता से  कुगांरपाल  का जंगल इन दिनों  जल रहा है  और उसको रोकने के लिए  किसी प्रकार प्रबंध नहीं किया जा रहा है जिसके कारण बहुमूल्य वन औषधि खाक खो गई है और क्षेत्र में अतिशीघ्र ग्रामीणों का कब्जा भी हो सकता है। इसी प्रकार क्षेत्र में पेड़ों की कटाई भी अंधाधुन तरीके से किया जा रहा है जिससे विभाग की कार्यप्रणाली उजागर हो रही है।
बस्तर वन मंडल क्षेत्र के बस्तर वन परिक्षेत्र अंतर्गत का कुगांरपाल कोंडागांव सीमा से सटा हुआ है और इस क्षेत्र में वन अधिकारी जाने से कतराते हैं तथा यह बड़ा इलाका होने से घोटिया  मे सहायक चौकी बनाई गई है और सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी सहित उनका अमला कार्यालय में डटा रहता है जिसके कारण कुगांरपाल क्षेत्र में वन की अवैध कटाई बदस्तूर जारी है।  पेड़ों की कटाई और आग लगने की जानकारी मिलने पर जब वहां पहुंचे तो कई लोग पेड़ों को काटते हुए दिखाई दिए जिसको जलाऊ के रूप में उपयोग करने की जानकारी मिली तो दूसरी तरफ जहां आग लगी है उस क्षेत्र पर अति शीघ्र कब्जा करने का अंदेशा भी कुछ जागरूक ग्रामीणों ने जताया। क्षेत्र के लोगों से जब इस बारे में जानकारी चाही गई तो उनका कहना था कि वन विभाग के अधिकारियों की उदासीनता के कारण इस प्रकार की स्थिति निर्मित हो रही है क्योंकि क्षेत्र के प्रभारी इलाके में भ्रमण नहीं करते हैं जिसके कारण ग्रामीणों में खौफ नहीं है।  सूत्रों का कहना है कि क्षेत्र के अधिकारियों की कुछ ग्रामीणों के साथ सांठगांठ है और कटाई के मामले को उनके द्वारा रफा-दफा करने के लिए कुछ रकम भी ली जाती है कुल मिलाकर बस्तर वन परिक्षेत्र के कुगांरपाल में उदासीनता के कारण वनों की कटाई बदस्तूर जारी है।

*अक्कू खान*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *