Sharing is caring!

ये हैं पाकिस्तान की वो जगहें, जहां हिंदू धर्म की होती है जय,ऐतिहासिक हिंदू मंदिर

पाकिस्तान में हजारों ऐतिहासिक मंदिर थे। कभी पाकिस्तान की भूमि आर्यों की प्राचीन भूमि हुआ करती थी। सिंधु नदी का लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा पाकिस्तान में ही बहता है। सिंधु, सरस्वती और गंगा नदी के किनारे ही भारतीय संस्कृति और सभ्यता का उत्थान और विकास हुआ। कहते हैं कि सिंधु के बगैर अधूरी है हिन्दू संस्कृति। पाकिस्तान में ही हड़प्पा और मोहनजोदाड़ो के प्राचीन नगर के अवशेष मिले हैं। दुनिया का प्रथम विश्‍वविद्यालय पाकिस्तान में ही है। बंटवारे के बाद पाकिस्तान में सैंकड़ों मंदिर ध्वस्त किए गए। हम नहीं जानते हैं कि कितने मंदिरों का अस्तित्व मिटा दिया गया और उनकी प्राचीनता और महत्व क्या था। आज जो मंदिर बचे हैं वे भी उपेक्षा का शिकार हैं।

 भारत में बने मंदिरों का डंका दो दुनिया भर में बजता है. पर क्या आप उन मंदिरों के बारे में जानते हैं जो हमारे पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में हैं? हिंदू आस्थाओं के प्रतिनिधि कई पुराने मंदिर पाकिस्तान में भी हैं. जानिए इनके बारे में:

 

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    1 / 10

    सरहद बंटने से इतिहास नहीं बदला करते. पाकिस्तान में आज भी हिंदुओं के ऐतिहासिक मंदिर मौजूद हैं. इन मंदिरों की अपनी मान्यता है. कराची के इस 1500 साल पुराने पंचमुखी हनुमान मंदिर में आज भी काफी लोग जाते हैं. पाकिस्तान की पत्रकार रीमा अब्बासी ने पाकिस्तान में मौजूद हिंदू मंदिरों पर किताब लिखी हैं. ये तस्वीरें उन्हीं की किताब से ली गई हैं.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    2 / 10

    नागरपारकर के इस्लामकोट में पाकिस्तान का इकलौता ऐतिहासिक राम मंदिर. इस मंदिर की भव्यता आज भी देखने लायक है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    3 / 10

    बलूचिस्तान प्रांत के दूरदराज इलाके में स्थित दुर्गा का हिंगलाज मंदिर. बलूचिस्तान प्रांत के लासबेला जिले में हिंगोल नदी के किनारे स्थित हिंगलाज (दुर्गा का एक नाम) माता का मंदिर, दुस्साहसी तीर्थयात्रियों का भी कड़ा इम्तिहान लेता है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    4 / 10

    हिंगलाज मंदिर क्षेत्र का बाहर से दिखता बेहद खूबसूरत नजारा. पहाड़ों के बीच बने इस मंदिर की खूबसूरती देखने लायक है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    5 / 10

    पाकिस्तान के पंजाब के चकवाल जिले के कटासराज क्षेत्र में मंदिरों का समूह. वीरान से इलाके में मौजूद यह मंदिर आज भी इतिहास की कई परतों को खुद में समेटे हुए है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    6 / 10

    पाकिस्तान में मौजूद एक हिंदू मंदिर ये भी है. हालांकि इसकी इमारत उतनी भव्य नहीं है. लेकिन इससे इसके अस्तित्व पर कोई असर नहीं पड़ता है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    7 / 10

    सिंध में दलित हिंदुओं और मुसलमानों का प्रमुख धर्म स्थल रामा पीर मंदिर. इस मंदिर की मीनारों पर देवी-देवताओं के झंडे लगे हुए हैं. इसमें भगवान की तस्वीरें बनी हुई हैं.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    8 / 10

    पेड़ पर बंधी आस्था. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, किसी पेड़ या खास जगह पर पट्टी बांधने से मनोकामना पूरी होने की बात मानी जाती है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    9 / 10

    भाषा सभी धर्मों और समुदाय की होती है. इस तस्वीर में ऊपर की ओर तो ॐ लिखा हुआ है. नीचे उर्दू में हिंदू धर्म से संबंधित कुछ लिखा गया है.

  • ये हैं पाकिस्तान के ऐतिहासिक हिंदू मंदिर
    10 / 10

    संगमरमर की दीवार पर ॐ लिखा हुआ है. दीवार पर भगवान कृष्ण की तस्वीर भी लगी हुई है.

Sharing is caring!