July 25, 2021
Breaking News

विश्व प्रसिद्घ बस्तर दशहरा की तैयारियां सांसद दिनेश कश्यप ने किया ओचक निरीक्षण

जगदलपुर। विश्व प्रसिद्घ बस्तर दशहरा की तैयारियां शुरू हो गयी है इसके लिए बस्तर सांसद दिनेश कश्यप ने जिया डेरा, माड़िया सराह, एवं सीरासार भवन का औचक निरक्षण किया तथा बुनियादी सुविधाये हेतु अधिकरियो को निर्देशित किया विदित हो कि दशहरा हेतु परंपरानुसार बिलोरी जंगल से साल लकड़ी का गोला मंगवाया जाता है। काष्ठ पूजा के बाद इसमें सात मांगुर मछलियों की बलि देने के साथ लकड़ी से ही रथ बनाने में प्रयुक्त औजारों का बेंठ आदि बनाया जाएगा।गौरतलब हो कि छत्तीसगढ़ का बस्तर दशहरा दुनिया में सबसे लंबे अवधि तक मनाया जाने वाला पर्व है। सहकार और समरसता की भावना के साथ 75 दिवसीय पर्व की शुरुआत हरेली अमावस्या से क्वांर माह तक चलता है। इसमें सभी वर्ग, समुदाय और जाति-जनजातियों का योगदान महत्वपूर्ण होता है। प्रत्येक बस्तरिया का माईजी के प्रति अगाध प्रेम व आस्था पर्व में झलकता है।

पर्व की शुरुआत हरेली अमावस्या को माचकोट जंगल से लाई गई लकड़ी (ठुरलू खोटला) पर पाटजात्रा रस्म के साथ होती है। इसके बाद बिरिंगपाल गांव के ग्रामीण सीरासार भवन में सरई पेड़ की टहनी को स्थापित कर डेरीगड़ाई रस्म पूरी करने के साथ विशाल रथ निर्माण के लिए जंगलों से लकड़ी शहर पहुंचाने की प्रक्रिया शुरु हो जाती है। झारउमरगांव व बेड़ाउमरगांव के डेढ़-दो सौ ग्रामीण रथ निर्माण की जिम्मेदारी निभाते दस दिनों में पारंपरिक औजारों से विशाल रथ तैयार करते हैं। इसमें लगने वाले कील और लोहे की पट्टियां भी पारंपरिक रुप से स्थानीय लोहार सीरासार भवन में तैयार करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *