Sharing is caring!

यूपी: लोकसभा उपचुनाव में सपा ओर बसपा एकसाथ लड़ेंगे चुनाव , आज होगा फैसला

पूर्वोत्तर के चुनाव नतीजों में बीजेपी को बंपर जीत मिलने के बाद देश का राजनीति में हलचल मची हुई है बीजेपी के बढ़ते रुतबे और प्रधानमंत्री मोदी के लगातार बढ़ते कद से धुर विरोधी भी अब साथ आने को तैयार हो रहे हैं उत्तर प्रदेश में दो सीटों पर लोकसभा उपचुनाव है दो सीट पर हो रहे उपचुनाव में मायावती की पार्टी बीएसपी अखिलेश की समाजवादी पार्टी को समर्थन कर सकती है बीएसपी आज ही इसका एलान भी कर सकती है इसके लिए आज इलाहाबाद और गोरखपुर में पार्टी के लोकल नेताओं की बैठक बुलाई गई है शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर औपचारिक एलान हो सकता है  विदित हो की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी है। इन उपचुनावों में अब केवल एक महीने का समय बचा है। गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटें क्रमश: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफा देने के कारण रिक्त हुई है क्योंकि ये दोनों नेता इस्तीफा देकर उत्तर प्रदेश विधानपरिषद के सदस्य बन गए है। उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल में रहने के लिए इन दोनों को प्रदेश की विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य होना जरूरी था।राज्य में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी के लिए गोरखपुर लोकसभा सीट प्रतिष्ठा का सवाल है क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस सीट पर 5 बार जीत हासिल कर चुके है। योगी के पहले उनके गुरू मंहत अवैद्यनाथ इस सीट पर तीन बार लोकसभा चुनाव जीत चुके है। दूसरी तरफ फूलपुर लोकसभा सीट जो कभी कांग्रेस का गढ हुआ करती थी और पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू इस सीट पर पार्टी का प्रतिनिधित्व कर चुके थे। इस सीट पर पहली बार भाजपा ने 2014 में जीत दर्ज की थी और केशव प्रसाद मौर्य ने यहां पार्टी का भगवा झंडा लहराया था।

Sharing is caring!