पवन अग्रवाल जशपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद पर यथावत

सारे अनुमान ओर दावों को धता बताते हुवे जशपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद यथावत रखा गया है।पूर्व में छत्तीसगढ़ कांग्रेस कमेंटी में जिलाध्यक्षों की फेर बदल होने की सूचि में काग्रेस जिलाध्यक्ष को भी लेकर कई बातें सामने आई है।सूत्रों के हवाले से तो यह भी कहा गया कि वर्तमान जशपुर के जिलाध्यक्ष के पद में भी बदलाव होने वाला था  जिसके वजह से जशपुर जिले में जिलाध्यक्ष के पद को लेकर राजनीति गर्म हो गई है और लोगों ने अलग अलग राय देना शुरू कर दिया था परन्तु सारे अनुमान ओर दावों को धता बताते हुवे जशपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद पर पवन अग्रवाल यथावत बने हुवे है अध्यक्ष पद पर पवन अग्रवाल के यथावत बने रहने को लेकर  कांग्रेस के शुभचिंतक पूर्व से ही आश्वस्त दिख रहे थे परन्तु कांग्रेस के ही कुछ विघ्नकारी और अक्सर अवसरवादी लोगो द्वारा जिलाध्यक्ष पद हटाये जाने को लेकर अफवाहों को लगातार हवा देते रहे ओर  मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक हर जगह जिलाध्यक्ष पद के परिवर्तन को लेकर चर्चे होना शुरू हो गया परन्तु सांच को आंच क्या की तर्ज पर जिलाध्यक्ष अपने कर्म को कर्म योद्घा के रूप में कार्य करते रहे  ओर जिले का लगातार दौरा कर गुटबाजी को दूर करने और कार्यकर्ताओ को संगठित होने पर बल दिया। यही वजह है की जशपुर जिले में खासकर जशपुर को बीजेपी का अभेद गढ़ कहा जाता था उसी जिले में कोतबा,पत्थलगांव,बगीचा की नगरपंचायत समेत जशपुर नगरपालिका अध्यक्ष के साथ साथ चार पार्षद कांग्रेस की झोली में डाल देना यह कांग्रेस जिलाध्यक्ष पवन अग्रवाल ओर उनके साथ साथ एक  एक कांग्रेस के सिपाहियों की कड़ी मेहनत का परिणाम है