October 19, 2021
Breaking News

निर्माणाधीन एनएच, बदहाल ट्रैफिक व्यवस्था, नगर में पसरी गन्दगी देख भड़की कलेक्टर, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

निर्माणाधीन एनएच, बदहाल ट्रैफिक व्यवस्था, नगर में पसरी गन्दगी देख भड़की कलेक्टर, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

हरितछत्तीसगढ़, विवेक तिवारी

पत्थलगांव। शहर में सड़कों के किनारे से अतिक्रमण हटाया जाएगा। यातायात व्यवस्था को दुरूस्त करने के मद्देनजर कलेक्टर डाॅ प्रियंका शुक्ला ने पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों को इसके निर्देश दिए हैं।
लोक सुराज अभियान की समीक्षा बैठक के सिलसिले में कलेक्टर डाॅ प्रियंका शुक्ला शुक्रवार को पत्थलगांव प्रवास पर थीं। यहां विश्रामगृह में उन्होंने विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। उल्लेखनीय है कि लोक सुराज अभियान के तहत 12 मार्च से 31 मार्च तक क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में समाधान शिविर लगाए जाने हैं। कलेक्टटर डाॅ शुक्ला ने सभी अधिकारियों को लोक सुराज शिविरों में प्राप्त आवेदनों का समाधान शिविर प्रारंभ होने से पूर्व ही निराकरण करने के निर्देश दिए हैं। इसमें कोताही बरतने वालों के खिलाफ उन्हांेने कड़ी कार्रवाई की बात भी कही है। बैठक पूरी होने के बाद उन्होंने शहर के विभिन्न वार्डों का भ्रमण किया। इस दौरान नालियों में पसरी गंदगी को देख वे भड़क उठीं। यहां से वे सीधे नगरपंचायत कार्यालय पहुंची। यहां कलेक्टर ने मुख्य नगरपालिका अधिकारी को जमकर फटकार लगाई। उन्हांेने तत्काल शहर के सभी वार्डांे में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने के सख्त निर्देश दिए। कलेक्टर ने राष्ट्रीय राजमार्ग 43 की दुर्दशा को लेकर विभागीय अधिकारियों तथा ठेकेदार को भी फटकारा। उल्लेखनीय है कि राजमार्ग 43 पर निर्माण कार्य पिछले 1 माह से बंद पड़ा हुआ है। वहीं निर्माणाधीन सड़क इस कदर जर्जर हालत में है कि इस पर लोगों का चलना मुश्किल है। खास तौर पर छोटे चारपहिया वाहन तथा दुपहिया वाहन चालकों को इस मार्ग से गुजरने में खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उधर निर्माणाधीन सड़क से उड़ रही धूल से इसके आस-पास रहने वाले लोगों का सांस लेना तक दूभर हो गया है वहीं धूल से वाहन चालकों के लिए कुछ मीटर के बाद सड़क भी मुश्किल से दिखाई देती है इससे दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। इसे लेकर लोग कई बार आंदोलन कर प्रशासन का ध्यानाकर्षण इस समस्या की ओर करा चुके हैं। यहां तक कि लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत के जशपुर प्रवास के दौरान उन्हें भी लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा था। प्रशासन द्वारा लोगों की मुश्किलों को देखते हुए ठेकेदार को सड़क पर पानी का छिड़काव करने के निर्देश भी दिए गए थे ताकि निर्माणाधीन सड़क से उड़ने वाली धूल से लोगों को राहत मिल सके। परंतु न तो ठेकेदार द्वारा इसमें रूचि ली जा रही है और न ही विभागीय अधिकारियों द्वारा इस पर ध्यान दिया जा रहा है। इससे लोगों की सत्तारूढ़ दल के खिलाफ भी लोगों में नाराजगी बढ़ रही है। बताया जाता है कि लोगों के रूख को भांपते हुए शासन द्वारा सड़क निर्माण का कार्य आनन-फानन में दूसरे ठेकेदार को दे दिया गया है परंतु इसके बाद भी सड़क पर निर्माण प्रारंभ नहीं हो पाया है। इसे देखते हुए पत्थलगांव प्रवास के दौरान कलेक्टर ने ठेकेदार और अधिकारियों की जमकर क्लास ली। उन्होंने सड़क की दुर्दशा को लेकर लोगों के गुस्से को जायज बताया। बताया जाता है कि ठेकेदार द्वारा कलेक्टर को भी सड़क पर पानी छिड़काव का झांसा देने की कोशिश की गई परंतु कलेक्टर ने इसकी सर्वथा अनदेखी करते हुए पानी का छिड़काव को लेकर कड़े निर्देश दिए हैं।
यातायात व्यवस्था पर भड़की कलेक्टर
पत्थलगांव प्रवास के दौरान यातायात व्यवस्था की दुर्दशा को लेकर भी कलेक्टर ने जमकर नाराजगी जताई। उल्लेखनीय है कि बैठक के लिए विश्रामगृह जाने और पुनः वापस आने के दौरान बसस्टैंड से विश्रामगृह चैक तक पसरी अव्यवस्था पर उनकी नजर पड़ी। गौरतलब है कि सड़क के दोनों किनारे अतिक्रमण की चपेट में हैं वहीं व्यापारियों द्वारा दिनदहाड़े भारी वाहनों को दुकानों के सामने खड़ा कर सामान लोड-अनलोड किए जाने से यातायात व्यवस्था पूरी तरह चरमरा जाती है। एसडीएम पी वी खेस और तहसीलदार मायानंद चंद्रा द्वारा व्यापारियों की बैठक लेकर भारी वाहनों के शहर में प्रवेश का समय निर्धारित कर दिया था। व्यापारियों को इस संबंध में हिदायत भी दी गई थी परंतु नगरीय प्रशासन के इसमें रूचि नहीं लेने से स्थिति में सुधार नहीं आया। उंचे रसूख होने के कारण स्थानीय पुलिस भी इन व्यापारियों पर हाथ डालने से हिचकिचाती है और टैªफिक पुलिस के होने के बावजूद आज भी रायगढ़ रोड पर लोगों को दिन में कई बार भारी जाम की स्थिति का सामना करना पड़ता है। बताया जाता है कि कलेक्टर के प्रवास के समय भी दुकानदारों द्वारा भारी वाहनों से सामान खाली कराया जा रहा था जिससे यातायात में बाधा उत्पन्न हो रही थी। इसे देख उन्होंने पुलिस और नगरीय प्रशासन के अधिकारियों को भारी वाहनों से सामान खाली कराने का समय निर्धारित करने के साथ ही सड़कों के किनारे अतिक्रमण हटाने के भी निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *