October 21, 2021
Breaking News

योजनाओं के क्रियान्वयन में सरपंच, सचिवों की भूमिका महत्वपूर्ण – श्री पैकरा  सरपंच-सचिवों का जिला स्तरीय सम्मेलन सम्पन्न 

योजनाओं के क्रियान्वयन में सरपंच, सचिवों की भूमिका महत्वपूर्ण – श्री पैकरा

सरपंच-सचिवों का जिला स्तरीय सम्मेलन सम्पन्न

अम्बिकापुर,,,, प्रदेष के गृह जेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी तथा जिले के प्रभारी मंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में विगत चौदह वर्षो से गांव, गरीब, मजदूर, किसान और नौजवानों के हित में अनेक योजना तैयार कर विभिन्न विभाग के माध्यम से संचालित किए जा रहे हैं। इन योजनाओं का थरातल पर क्रियान्वयन सरपंच-सचिव के माध्यम से ही सुनिष्चित संभव हो पा रही है। वास्तव में योजनाओं के क्रियान्वयन में सरपंच-सचिव आधार स्तंभ के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ईमानदारी व सेवा भाव से  दायित्व का निर्वहन कर सरपंच-सचिव समाज में सम्मानजनक मुकाम हासिल कर रहे हैं। श्री पैकरा आज जनपद पंचायत बतौली में आयोजित सरपंच-सचिवों  के जिला स्तरीय सम्मेलन को मुख्य अतिथि की आसंदी से सम्बोधित कर रहे थे। इसके पूर्व अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती के छायाचित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर सम्मेलन का शुभारंभ किया गया।

गृहमंत्री रामसेवक पैकरा ने कहा कि त्रि-स्तरीय पंचायत राज व्यवस्था के तहत ग्रामसभा को मजबूती प्रदान करने के लिए पंचायतों को अधिकार सम्पन्न बनाया गया है। उन्होंने कहा कि पंचायतें आवष्यकतानुसार ग्रामों के विकास हेतु ग्रामसभा के माध्यम से प्रस्ताव पारित कर विकास का मार्ग प्रषस्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि त्रि-स्तरीय पंचायती राज के माध्यम से शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन बेहतर तरीके से किया जा रहा है। पंचायतों में महिलाओं को 50 प्रतिषत आरक्षण का लाभ दिया गया है, जिससे पंचायतों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व भी पहले की अपेक्षा बढ़ी है। महिलाएं पंचायतों के माध्यम से अपनी प्रतिभा का प्रदर्षन कर जन सेवा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण दायित्व निभा रहीं हैं। श्री पैकरा ने कहा कि डॉ. रमन सिंह की सरकार एक संवेदनषील सरकार है जो सभी की बातों और मांगों को गंभीरतापूर्वक विचार कर निर्णय लेती है। इसी कड़ी में सचिवों की मांगों को गंभीरता से लेते हुए 15 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके सचिवों को नियमित करने के साथ ही नियमित वेतन निर्धारण करने का निर्णय लिया है।

श्री पैकरा ने कहा कि वर्ष 2003 से पहले गांवों में सीसी रोड बहुत ही कम देखने को मिलता था, लेकिन 2003 में डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में सरकार ने गांव-गांव में सीसी रोड का निर्माण कर   गांव को सुगम पहुंच बनाया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तथा मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत दूर-दराज के गांवों को भी पक्की सड़कों से जोड़ा गया है। श्री पैकरा ने कहा कि चौदह वर्षो में प्रदेष के कोने-कोने में विकास की राहें खुली हैं। स्वास्थ्य, षिक्षा, सड़क, पानी, बिजली, उच्च षिक्षा की सुविधाएं बढ़ी है। इन चौदह वर्षो में गांव की तस्वीर पूरी तरह से बदल चुकी है। श्री पैकरा ने कहा कि कौषल विकास पर जोर देकर युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए प्रत्येक विकासखण्ड में आई.टी.आई. तथा जिलों में लाईव्हलीहुड कॉलेज खोले जा रहे हैं।

गृह मंत्री ने बताया कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों तथा विधवाओं को पेंषन देने के लिए राज्य शासन द्वारा मुख्यमंत्री पेंषन योजना की शुरूआत की जा रही है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री पेंषन योजना के तहत पात्रता हेतु 2002 की पात्रता सूची तथा 2011 की सामाजिक, आर्थिक जनगणना सूची में नाम होने की बाध्यता नहीं होगी।

जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती फुलेष्वरी सिंह ने कहा कि त्रि-स्तरीय पंचायत राज व्यवस्था के तहत पंचायतों को अधिकार देकर सषक्त बनाया गया है। सरपंच-सचिव शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन निष्ठापूर्वक कर अपनी भूमिका को महत्वपूर्ण बनाएं। उन्होंने कहा कि डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में सभी वर्ग के लोगों के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सरपंच-सचिव ईमानदारी से कार्य करें।

छतिसगढ़ हस्तषिल्प बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष अनिल सिंह मेजर ने कहा कि शासन विभिन्न उद्देष्यों को लेकर योजना तैयार करती है, लेकिन उन योजनाओं के क्रियान्वयन में सरपंच और सचिव महत्वपूर्ण इकाई के रूप में कार्य करते हैं।  इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अनुराग पाण्डेय, जिला पाचाय के उपाध्यक्ष प्रभात खलखो, जनपद पंचायत बतौली के अध्यक्ष श्रीमती शारदा पैकरा, जनपद पंचायत अम्बिकापुर की अध्यक्ष श्रीमती पूनम टेकाम, उपाध्यक्ष संजय, जिला पंचायत सदस्य मुन्ना टोप्पो, देवनाथ उंजन, पूर्व विधायक प्रोफेसर गोपाल राम सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में पंचायत सचिव उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *