October 26, 2021
Breaking News

नक्सलियों द्वारा निर्दोष ग्रामीणों का किया गया बरबरतापूर्वक हत्या,,,पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नक्सल विरोधो अभियान से बौखलाएं हुए है नक्सली

दिनांक 20.03.2018

नक्सलियों द्वारा निर्दोष ग्रामीणों का किया गया बरबरतापूर्वक हत्या,,,पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नक्सल विरोधो अभियान से बौखलाएं हुए है नक्सली

सड़क पुलिया तथा विकास कार्यो को रोकने हेतु ग्रामीणों को बनाया जा रहा है निषाना

पुलिस पहुंची ग्राउण्ड जिरो पर

थाना बयानार क्षेत्र के ग्राम अदनार की घटना

कोंडागाँव : – नक्सल विरोधी अभियान एवं कोण्डागांव के अन्दरूनी क्षेत्रों में रोड़ निर्माण का कार्य निरन्तर चल रहा है जिससे विकास कार्यो में तेजी आई, जिससे शासन एवं पुलिस के प्रति लोगों का विष्वास बढ़ता जा रहा है, जिसकी वजह से नक्सली बौखलाएं हुए है तथा जनता का सहयोग नही मिलने से अपने घिनौने कृत्यों को अंजाम नही दे पा रहे है। पिछले दिनों कोण्डागांव जिले के भिन्न-भिन्न थाना से 10 नक्सलियों ने पुलिस अधीक्षक कोण्डागांव के समक्ष आत्मसमर्पण किये थे, जिससे कोण्डागांव अन्तर्गत नक्सलियों की जड़ कमजोर होती जा रही है। नक्सली क्षेत्र में अपना दबदबा बनाये रखने हुते कल रात्रि थाना बयानार क्षेत्र अन्तर्गत आम जनता के बीच अपना खौफ बढ़ाने तथा अपनी रंगदारी को मजबूत करने हेतु ग्राम आदनार में ग्रामीणाों के मध्य खुनी खेल खेलते हुए गा्रम के रैजू कोर्राम पिता जयसिंह कोर्राम जाति मुरिया उम्र 35 वर्ष निवासी आदनार तथा सुदू कोर्राम पिता चमरा राम कोर्राम जाति गोड़ उम्र 58 वर्ष निवासी आदनार को ग्रामीणो के समक्ष भय का माहौल बनाने हेतु लाठी-डण्डा से पीट-पीट कर बरबरतापूर्वक हत्या कर दिया। नक्सलियों की संवेदनहीनता का पता इसी से चलता है कि 58 वर्ष के मृतक सुदू कोर्राम पिता चमरा राम कोर्राम जाति गोड़ का लाठी डण्डा से पीट कर निर्मम्तापूर्वक हत्या कर दिया गया।

नक्सलियों को बरबरता यही खत्म नही हुई उन्होंने गांव के अन्य 5 लोग नेहरू कोर्राम पिता गागरा उम्र 30 वर्ष, नवलू कोर्राम पिता चमरा उम्र 25 वर्ष, सागा कोर्राम पिता सोनधर कोर्राम उम्र 30 वर्ष, सोनू कोर्राम पिता चमारा कोर्राम उम्र 28 वर्ष तथा सुनीता कोर्राम पिता सोनधर को लाठी-डण्डा कर बुरी तरह से मारपीट किया गया उक्त घायल लोग किसी तरह से नक्सली के चंगुल से निकल कर भागने में सफल हुए अन्यथा उनके साथ किसी भी प्रकार की अनहोनी होने की अंषका से इंकार नही किया जा सकता।

कोण्डागांव जिला में लगातार चलाये जा रहे नक्सल विरोधी अभियान से नक्सली में लगतार नक्सलिया की गिरफ्तारी तथा कुछ नक्सली पुलिस की खौफ तथा शासन द्वारा चलाये जा रहे आत्मसमर्पण एवं पुर्नवास नीति से प्रभावित होकर लगातार आत्मसमर्पण कर रहे है जिससे बैकफुट पर तथा इसी की बौखलाहट में नक्सलियों द्वारा निर्दोष लोगों की हत्या कर ग्रामीणों के मध्य अपना वर्चस्व कायम रखने हेतु ऐसे हथकण्डो का सहारा ले रहे है। नक्सली आरोपियों के विरूद्ध पुलिस द्वारा नामजद अपराध कायम किया गया जिनकी गिरफ्तारी कोण्डागांव पुलिस द्वारा शीघ्र कर ली जावेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *