July 26, 2021
Breaking News

ये कैसा मॉडल स्कूल 35 हजार सालाना फीस ले रहे बच्चों से पर नही हैं शिक्षक

हरित छत्तीसगढ़ मोती बंजारा कांसाबेल। गरीब तबके के लोगो के लिए खोले अग्रेजी माध्यम के माॅडल स्कल 7 साल में भी सुधर नही पाया हैं, उल्लेखनीय हैं कि सरकार के द्वारा स्कुल का संचालन नही कर पाने एवं मांडल स्कुल के अनुरूप छात्र छात्रों को व्यवस्था नही देने पाने के कारण पिछले साल दिल्ल्री के प्राईवेट संस्था डीएवी मुख्यमंत्री पब्ल्कि स्कुल को हस्तातरण किया गया था, लेकिन संस्था के द्वारा दो साल में भी शिक्षक का व्यवस्था नही कर पाया हैं । स्कुल का निजिकरण होने का बाद में 2016 से प्रवेश लेने वाले छात्र छात्रो को 35 हजार प्रति साल का एक मोटी रकम की फीस देने के बाद भी यहा पर शिक्षक का व्यवस्था नही हो पाया है। हायर क्लास के 11 वी 12 वीें के छात्र छात्रों से मिली जानकारी के अनुसार स्कुल में कामर्स व बाॅयलोजी के कई विषय में शिक्षक नही होने से अध्यापन का कार्य नही हो रहा है। वही अभी कुछ दिन पहले ही संस्था के द्वारा तीमाही का परीक्षा लिया हैं, ऐसे में बडी बात यह हैं कि बगैर शिक्षक के कैसे पढाई करेंगें यह एक बडी सवाल है? उधर 35 हजार की सालाना फीस होने के बाद भी शिक्षक का समुचित व्यवस्था नही होने के कारण अभिभावकों में भारी नाराजगी है।
संस्था के द्वारा नही लिया गया हैं अभिभावक सम्मेलन
अभिभावकों ने बताया कि माॅडल स्कुल के घुलने के बाद 7 साल मे ंसिर्फ 1 बार ही अभिभावक सम्मेलन का आयोजन किया गया था, उसके बाद कभी अभिभावक सम्मेलन का आयोजन नही किया गया, अभिभावक सम्मेलन होने से संस्था में कई प्रकार के अव्यवस्था का समाधान नही होता और ना ही हमारे द्वारा उन तक प्रमुखता से बात रखी जा सकती हैं, ऐसे में अभिभावको में शिक्षक के नही होने एवं अभिभावकों के सम्मेलन नही होने से खासे नाराज है।

व्यवस्था सुधारा जा रहा है: प्राचार्य

डीएवी मुख्यमंत्री पब्लिक स्कुल कांसाबेल के प्रचार्य प्रफुल मंहत प्राचार्य  ने कहा कि 1 सप्ताह में शिक्षक आ जाएगें, मुख्यकार्यलय में पदभार शिक्षक के द्वारा ले लिया गया है। मै स्वयं इस वर्ष कुछ माह पहले ही आया हुं, आते के साथ यहा के व्यवस्था सुधारा जा रहा हें, काफी हद तक सुधार हो चुका हैं दो शीक्षक की कमी हैं वो भी एक सप्ताह में पुरा हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *