September 24, 2021
Breaking News

ये है बिलासपुर के बाबा राम-रहीम जो बच्चों के साथ करते हैं अश्लील हरकतें

पुलिस ने अपराध दर्ज कर आरोपी स्कूल संचालक को गिरफ्तार कर लिया है।

बिलासपुर. स्कूल संचालक ढाई साल की एक बच्ची से 15 दिनों से छेड़खानी करता आ रहा था। इससे भयभीत बच्ची ने स्कूल जाने से मना कर दिया। बच्ची के चेहरे पर दांत से काटने के निशान थे। परिजनों ने बहला-फुसलाकर पूछा तो उसने सारा वाकया बताया। परिजनों ने इसे नजरअंदाज कर उसे फिर से स्कूल भेज दिया। तब भी वह बदहवास सी घर लौटी। बच्ची ने फिर से आपबीती दोहराई। इसके बाद परिजनों ने अपनी तरफ से छानबीन की। चाइल्ड लाइन संस्था से मदद ली, जिसके बाद सारा भेद खुला और घटना की रिपोर्ट सिविल लाइन थाने में की गई। मामला नेहरू नगर गणेश चौक के आदर्श किड्जी स्कूल का है। पुलिस ने अपराध दर्ज कर आरोपी स्कूल संचालक को गिरफ्तार कर लिया है। सिविल लाइन पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, जबलपुर निवासी एक परिवार ग्राम मंगला में किराए के मकान में रहता है।

परिवार के सदस्यों ने अपनी ढाई साल की बेटी को गणेश चौक नेहरू नगर स्थित आदर्श किड्जी स्कूल में नर्सरी कक्षा में भर्ती किया था। 4 अगस्त को जब बच्ची स्कूल से घर लौटी तो उसके चेहरे पर दांत से काटने के निशान थे, बाल बिखरे हुए थे। बच्ची बेहद डर सहमी थी। परिजनों ने यह सोचा, शायद बच्चों के बीच नोक-झोक हुई होगी। लेकिन परिजनों ने जब बच्ची से पूछताछ की, तो अलग ही माजरा निकला। बच्ची ने स्कूल के एक टीचर द्वारा अश्लील हरकत करने की जानकारी दी। तब भी परिजनों ने उसकी बात को ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया। उन्होंने यह मान लिया कि शायद बच्ची के समझ में कोई फर्क है। हालांकि इसके बाद बच्ची लगातार दहशत में रही। हफ्तेभर तक उसकी तबीयत बिगड़ी रही, और वह स्कूल नहीं गई। 16 अगस्त को परिजन बच्ची को लेकन स्कूल पहुंचे। लेकिन उसने स्कूल के भीतर जाने से इनकार कर दिया। अमूमन कई बच्चे स्कूल के नाम पर इस तरह रोते हैं, यह मानकर परिजन बच्चाी को रोता-बिलखता छोड़कर चले गए। लेकिन बच्ची स्कूल से फिर उसी तरह बदहवास हालत में घर लौटी।

उसने परिजनों को फिर से टीचर द्वारा अभद्रता और अश्लीलता करने की बातें बताई।
संचालक ने की झांसा देने की कोशिश : इसके बाद परिजन शिकायत लेकर स्कूल पहुंचे। स्कूल के संचालक (प्राचार्य) उत्तम वालके ने उन्हें सीसीटीवी कैमरे की जांच करने के बाद जानकारी देने का भरोसा दिलाया। 19 अगस्त को संचालक ने परिजनों को बताया कि बच्ची के साथ एेसी कोई घटना नहीं हुई है।
बच्ची ने बताया संचालक करता है छेड़छाड़ : परिजन 23 अगस्त को फिर बच्ची को लेकर स्कूल गए, जहां बच्ची संचालक उत्तम वालके को देखकर डर गई। परिजनों ने पुचकारकर बच्ची से छेड़छाड़ और अश्लीलता करने वाले का नाम पूछा। तब बच्ची ने स्कूल के संचालक (प्राचार्य) की ओर इशारा किया। बच्ची के इशारा करते ही संचालक वहां से खिसक गया। परिजनों की शिकायत पर उत्तम ने उन्हें 28 अगस्त को स्कूल में बुलवाया था।

भेद खुला तो बच्ची को स्कूल से निकाल दिया : सोमवार को परिजन शिकायत लेकर स्कूल पहुंचे थे। संचालक उत्तम वालके ने मामले से खुद को बचाने के लिए पहले से तैयारी कर रखी थी। परिजनों के पहुंचते ही उसने बच्ची को स्कूल में भर्ती करते समय जमा किए गए दस्तावेज और जमा की गई फीस लौटाते हुए चेक काटकर परिजनों को थमा दिया। उसने बच्ची को स्कूल से निकालने की जानकारी दी, और दूसरे स्कूल में एडमिशन कराने के लिए कहा।
चाइल्ड लाइन में काउंसिलिंग, सही निकली शिकायत : स्कूल के संचालक के खिलाफ परिजनों ने चाइल्ड लाइन संस्था से शिकायत की। चाइल्ड लाइन के संदीप मतोहिते व अन्य सदस्यों ने बच्ची की काउंसिलिंग की, जिसमें बच्ची की बातें सही पाई गई। शाम साढ़े 5 बजे परिजन और चइल्ड लाइन के संदीप शिकायत लेकर सिविल लाइन थाने पहुंचे।

एफआईआर दर्ज आरोपी गिरफ्तार : शिकायत पर पुलिस ने आरोपी स्कूल संचालक उत्तम वालके के खिलाफ भादवि की धारा 354 (क) व पास्को एक्ट की धारा 9, 10 के तहत अपराध दर्ज किया। आरोपी स्कूल संचालक उत्तम को पुलिस ने उसके मकान से हिरासत में लिया। उत्तम के साथ उसकी पत्नी भी थाने पहुंच गई। उत्तम उसे अपनी सफाई देने के लिए थाने ले आया था। रात तक उसकी पत्नी थाने में बच्चे के साथ बैठी रही।

खबर सूत्र पत्रिका डॉट कॉम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *