October 21, 2021
Breaking News

एक ओर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ वहीं दूसरी ओर नाबालिक लड़कियों के साथ दुष्कर्म-ये हाल है जशपुर

एक ओर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ वहीं दूसरी ओर नाबालिक लड़कियों के साथ दुष्कर्म-ये हाल है जशपुर

रिपोर्ट-रणजीत यादव*
तपकरा/जशपुर:-
✍इससे पहले जिले भर में हलचल थी ये अनाचार की मामला शिक्षा स्तर के कर्मी की मामला सामने आया और उनको नोकरी से हाथ धोनी भी पड़ी और आज फिर एक मामला सामने आया तपकरा से जहाँ गाँव के मुखिया ने 4 लोगों के साथ किया दुष्कर्म! जशपुर जिले में ये हो क्या रहा है दिन ब दिन एक से बढ़ कर एक बड़ी घटना सामने आ रही है|
जशपुर जिले के तपकरा थाना के अंबाकछार गांव में मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया। 12 मार्च को अपने घर से हास्टल जाने के लिए निकली 15 वर्षीय नाबालिग छात्रा के साथ पहले पूर्व सरपंच और मुंहबोले बड़े पिताजी ने दुष्कर्म किया। इसके बाद चार युवकों ने इसका वीडियो बनाया और ब्लैकमेलिंग कर रुपए मांगे। जब आरोपी लड़की को छोड़कर रुपए लेने गया तो चारों युवकों ने किशोरी से अनाचार किया। किशोरी को मुख्य आरोपी हॉस्टल छोड़ देने की बात कहकर कोतेबिरा के पर्यटन स्थल ले गया था |शेष पेज 18 हास्टल छोड़ देने के नाम पर किशोरी को ले गया था पर्यटन स्थल
*^नाबालिग एवं मुख्य आरोपी के बयान पर 4 लोगों को शिनाख्त के लिए लाया गया है।*
जहां कुनकुरी एसडीएम के समक्ष पेश कर बच्ची के बयान एवं पहचान के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। जेआर कुर्रे, उपथाना प्रभारी, तपकरा कुछ दिनों बाद सहेली को बताई आप बीती सहेली के जरिये मामले की जानकारी अधीक्षिका को हुई तो उन्होंने उसकी सूचना पीड़िता के पिता को दी। इसके बाद पिता ने आरोपी सरपंच ठाकुर प्रसाद, ग्राम सांको निवासी मनोज विश्वकर्मा, समडमा निवासी सुरेंद्र राम व दो अन्य नाबालिगों के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने धारा 376, 34 4-6 एवं पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। 3 सालों से जिले में बढ़ रही दुष्कर्म की घटना जिले दुष्कर्म के मामले कम होते नजर नहीं आ रहे हैं। वर्ष 2015 में दुष्कर्म के 95 मामले दर्ज हुए। वहीं वर्ष 2016 में 75 मामले और 2017 में दुष्कर्म के 93 मामले दर्ज हुए और इस वर्ष अब तक 29 मामले दर्ज हुए हैं। आदिवासी बहुल जिले में दुष्कर्म के मामले हर साल बढ़ रहे हैं। अधिकांश मामलों में रिश्तेदारों या फिर परिचितों द्वारा बहला फुसलाकर दुष्कृत्य किया गया है। बड़े पिता ने ही किया रिश्ते को शर्मसार जानकारी के मुताबिक मुख्य आरोपी ठाकुर प्रसाद पीड़िता के पिता के दोस्त हैं, पीड़िता समेत परिवार के अन्य बच्चे उसे बड़े पिताजी कहते हैं। जब रास्ते में उसने हास्टल छोड़ देने का प्रस्ताव दिया तो किशोरी को उसकी नीयत पर जरा भी शक नहीं था। सामाजिक प्रतिष्ठा और आपसी विश्वास को ताक पर रखकर पूर्व सरपंच ने रिश्तों को कलंकित कर दिया। वही सरकार कहती है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ देश की शान है बेटी देश को बेटी की जरुरत है वहीँ छत्तीसगढ़ जशपुर में बेटियों की रक्षा नही कर पा रही है सरकार,,,दिन ब दिन बढ़ती जा रही है एक से बढ़ कर एक बड़ी घटना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *