Sharing is caring!

देश के सबसे ताकतवर रेल इंजन को हरी झंडी दिखाएंगे पीएम मोदी, ट्रेनों की बढ़ेगी रफ्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मधेपुरा के ग्रीनफील्ड इलेक्ट्रिक लोकोमेटिव फैक्ट्री में बने इस रेल इंजन को रवाना करेंगे. पीएम के हरी झंडी दिखाते ही रूस, फ्रांस और जर्मनी जैसे देशों की श्रेणी में भारत भी आ जाएगा, जहां 12 हजार या इससे अधिक हॉर्स पावर की क्षमता वाले इलेक्ट्रिक इंजन चलते हैं.इस रेल इंजन को मेक-इन-इंडिया प्रोजेक्ट के तहत तैयार किया गया है, जिसकी लागत तकरीबन 25 करोड़ रुपये है. भारत के पास इससे पहले छह हजार हॉर्स पावर की अधिकतम क्षमता वाले रेल इंजन हैं.इस नए हाई स्पीड रेल इंजन से माल ढुलाई की रफ्तार मे तेजी आ सकेगी. यह रेल इंजन 120 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से माल ढुलाई करने में सक्षम है. रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक मधेपुरा रेल इंजना कारखाने से ग्यारह वर्षों में लगभग उच्च क्षमता वाले 800 इंजन बनाने का लक्ष्य रखा गया है.

Sharing is caring!