October 18, 2021
Breaking News

फूलों की होली के साथ श्रीमद्भागवत कथा का समापन प्रतापपुर में सात दिवसीय भागवत में रही श्रद्धालुओं की भारी भीड़

फूलों की होली के साथ श्रीमद्भागवत कथा का समापन
प्रतापपुर में सात दिवसीय भागवत में रही श्रद्धालुओं की भारी भीड़

प्रतापपुर। सोमवार की फूलों की होली के साथ प्रतापपुर में आयोजित सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का समापन हो गया,भागवत कथा के दौरान श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही,इसके अंतिम दिन हवन,भंडारा और कथा वाचक श्री आनंद कृष्ण ठाकुर जी महाराज और सहयोगियों को विदाई दी गयी।
गौरतलब है भागवत आयोजन समिति प्रतापपुर द्वारा स्थानीय बस स्टैंड में सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन किया गया था जिसमें कथा वाचक वृंदावन से पधारे श्री आनंद कृष्ण ठाकुर जी महाराज थे।इस दौरान संगीतमय भजनों के साथ कथा वाचन हुआ जिसमें भक्तिमय माहौल में श्रद्धालु झूमते नजर आए। इस दौरान श्री आनंद कृष्ण महाराज द्वारा कृष्ण जन्म,रुक्मणि विवाह और सुदामा चरित्र का सचित्र वर्णन प्रस्तुत किया जिसे सुन श्रद्धालु भाव विभोर हो उठे।अंतिम दिन सुदामा चरित्र का व्याख्यान करते हुए बताया कि उन्होंने बताया कि मनुष्य के धैर्य की पहचान गरीबी से होती है। सुदामा ने अपने बुरे समय में भी भगवान का भजन करना नहीं छोड़ा। उन्होंने कहा कि मनुष्य का परम धन गोविंद नाम है, जो हर समय उसके काम आता है। आनन्द महाराज ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण अपने बचपन के मित्र की दशा देखकर दंग रह गए। गोविंद ने अपने नेत्रों के जल से सुदामा जी के चरणों को धोकर पूरे समाज को सुखद संदेश दिया कि मनुष्य धन से बड़ा नहीं अपितु अच्छे विचारों से बड़ा होता है। आनंद महाराज ने वेद स्तुति, दत्तात्रेय जी के 24 गुरुओं का वर्णन, श्री शुकदेव विदाई, व्यास पूजा एवं श्रीमद् भागवत का संपूर्ण सारांश भक्तों को सुनाया। भागवत के अंतिम दिन संगीतमय भजनों के साथ फूलों की होली खेली गई जिसमें भक्त झूमते रहे।समापन के पश्चात हवन और भंडारा का भी आयोजन किया गया,सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा में स्थानीय श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही।आयोजन को सफल बनाने में राजेश मित्तल,नवीन जायसवाल,राजेश गुप्ता,राजेश गर्ग,अम्बिका जायसवाल, दयाशंकर तिवारी,गिरीश पटेल बिनोद जायसवाल राजेश मुंडा
,अमन मित्तल,कौशल किशोर ,अंकित,विक्रम , अनमोल , , आयुष सहित अन्य लोगों ने योगदान दिया।भागवत के अंतिम दिन गृहमंत्री रामसेवक पैंकरा सपरिवार पहुंचे थे, जोगी कांग्रेस के उम्मीदवार डॉ. नरेंद्र प्रताप सिंह भी उपस्थित रहे।

डॉ. नरेंद्र की वजह से आपके सामने कथा वाचन कर पा रहा हूँ

श्रीमद्भागवत के अंतिम दिन अपने स्वास्थ्य के बारे में बताते हुए कथा वाचक श्री आनन्द कृष्ण ठाकुर जी ने श्रद्धालुओं को  बताया कि आज मैं अगर आपके सामने कथा वाचन कर रहा हूँ तो यह आपके बीच बैठे डॉ. नरेंद्र प्र सिंह की वजह से है। जब मैं यहां आया तो मेरा स्वास्थ्य बहुत ज्यादा खराब हो गया था जिसके बाद मेरा इलाज इन्होंने ही किया और मेरे इलाज के लिए मेरे सम्पर्क में रहे और मेरा पूरा ध्यान रखा।श्री आनंद कृष्ण की इन बातों को सुन पंडाल में मौजूद सभी श्रद्धालुओं ने ताली बजाकर डॉक्टर नरेंद्र सिंह का स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *