December 4, 2021
Breaking News

कल डोल ग्यारस पर पशुवध गृह बंद, इसी दिन बकरीद भी मुस्लिम समाज पसोपेश में

HARIT CHHATTISGARH RAIPUR

राज्य के नगरीय प्रशासन विकास और आवास विभाग के विशेष सचिव रोहित यादव ने आदेश जारी कर कहा है कि आगामी 2 सितम्बर को डोल ग्यारस और बकरीद एक साथ होने के कारण प्रदेश के नगरीय क्षेत्रों की सीमा के अंतर्गत पूर्वान्ह यानी दोपहर 12 बजे तक ही पशुवध खुले रह सकेंगे और मांस बिक्री की दुकानें बाद बंद रहेंगी। इस संबंध में सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी कर दिये गये हैं।

गौरतलब है कि राज्य शासन ने  निर्देश जारी किये थे कि विशिष्ट अवसरों में नगरीय सीमा के अंतर्गत पशुवध गृह बंद रहेंगे और मांस की दुकानों से बिक्री प्रतिबंधित रहेगी। चूंकि इस बार डोल ग्यारस और बकरीद एक ही दिन 2 सितम्बर 2017 को पड़ रही है इसलिये राज्य शासन ने पूर्वान्ह तक उक्त आदेश से छूट प्रदान की है। हालांकि उक्त ताजा आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि बकरीद के दिन घरों में बकरे की होने वाली कुर्बानी पर पूर्वान्ह के बाद रोक रहेगी या नहीं। सिर्फ पशुवध गृह और मांस की दुकानों से बिक्री पूर्वान्ह के बाद बंद होने के बारे में जानकारी दी गई है।

Image result for पशुवध गृह बंदकल डोल ग्यारस पर पशुवध गृह बंद, इसी दिन बकरीद भी
२ सितंबर को डोल ग्यारस के चलते प्रदेशभर में पशुवध गृह बंद रखने के शासन के निर्देश के चलते अजीब स्थिति बन गई है। पुराने आदेश के क्रम में नगर निगम ने मांस दुकानें व पशुवध गृह बंद रखने के निर्देश जारी किए हैं, लेकिन इसी दिन मुस्लिम समाज की बकरीद भी है। ऐसे में लोग त्योहारी परंपरा का पालन कैसे करेंगे इसको लेकर उलझन खड़ी हो गई है। इधर निगम प्रशासन का कहना है कि आपसी तालमेल से निर्देशों का पालन कराएंंगे।शनिवार को डोल ग्यारस व बकरीद साथ-साथ है। हर साल इस दिन पशुवध गृह बंद रखे जाते हैं, लेकिन इस बार बकरीद होने से मुस्लिम समाजजन पसोपेंश में हैं कि जो लोग घरों में कुर्बानी नहीं देते वे दुकानों से मटन लाकर दावत करते हैं। उनके अनुसार हर विशेष पर्व त्योहार पर पशुवध गृह बंद रखे जाते हैं, लेकिन इस बार बकरीद होने से इसमें शिथिलता दी जाना चाहिए।

एक साथ मनेंगे डोल ग्यारस और ईद के त्योहार, सद्भावना से निकलेंगे चल समारोह

गौरतलब हो की एक ही दिन बकरीद और डोल ग्यारस का त्यौहार होने की वजह से पुरे प्रदेश में सभी जगहों पर शान्ति समिति की बैठक आयोजित कर  दोनों ही त्याहोर एक साथ सद्भावना के साथ मनाए जाने के निर्णय लिए जा रहे है ।शासन द्वारा विशिष्ट अवसरों पर नगरीय निकायों की सीमा में स्थित पशुवध गृहों एवं माँस बिक्री दुकानों को बंद रखने के पूर्व निर्णय में दो सितंबर को विशेष छूट देने का निर्णय लिया गया गया है। इस वर्ष दो सितंबर को एक ही दिन दो विशिष्ट अवसर डोल ग्यारस तथा ईदु-जुहा पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन ईदु-जुहा को पशुवध गृह और माँस बिक्री की दुकानें पूर्वान्ह तक खुली रहेंगी, अपरान्ह से प्रतिबंध यथावत् रहेगा। समस्त जिला कलेक्टरों को इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *