Sharing is caring!

मोदी ने दी हरी झंडी, स्कूलों में शुरू होगी सेक्स एजुकेशन


नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य योजना ‘आयुष्मान भारत’ को हरी झंडी दे दी गई है जिसके तहत स्कूलों में सेक्स एजुकेशन भी दी जाएगी। इसकी शुरूआत शनिवार 14 अप्रैल से छत्तीसगढ़ के बीजापुर से होगी। इसके तहत ‘रोल प्ले और एक्टिविटी बेस्ड’ मॉड्यूल को पूरे देश के स्कूलों में लागू किया जाएगा। इसके लिए प्रशिक्षित शिक्षकों के साथ-साथ साथी एजुकेटर की भी मदद ली जाएगी। इसके लिए प्रत्येक स्कूल के 2 शिक्षकों का चयन कर उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। इस पाठ्यक्रम में यौन और प्रजनन संबंधी स्वास्थ्य, यौन उत्पीड़न, गुड टच और बैड टच, पोषण, मानसिक स्वास्थ्य, यौन संबंधों से होने वाले रोग, गैर संक्रामक रोग, चोट और हिंसा आदि को शामिल किया जाएगा। इस बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि सप्ताह में एक पीरियड इस कार्यक्रम के लिए हो जिसमें उपयुक्त तरीके से किशोरों से संबंधि‍त समस्याओं के बारे में बताया जाएगा। पहले चरण में 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा और बाद में इसमें छोटी क्लास के बच्चों को भी शामिल किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि यूपीए सरकार ने ऐसा कार्यक्रम शुरू किया था जिसकी आलोचना भी हुई थी। साल 2005 में बीजेपी नेता वेंकैया नायडू की अध्यक्षता वाली राज्यसभा की समिति ने इसकी आलोचना करते हुए कहा था कि यह इसका वास्तविक उद्देश्य स्कूलों में सेक्स शिक्षा को बढ़ावा देना है।

Sharing is caring!