September 24, 2021
Breaking News

आठ दिन समय का नोटिस-गुजरे कई महिने ? न अतिक्रमण हटाया और न ही की नाप जोख

विवेक तिवारी हरित छत्तीसगढ़ पत्थलगांव।
सड़कों से 27 फीट की नापजोक के बाद आज तलक कोई कार्रवाही नही
बदहाल यातायात व्यवस्था ज्यों की त्यों
पत्थलगांव। यातायात की बदहाल व्यवस्था को देखते हुये नगरीय प्रषासन के एवं नगरपंचायत के अधिकारी कर्मचारी नगर के कब्जाधारी पर अपना षिकंजा कसते
हुये नापजोक कर कई बार नोटिस तो बांट दी। नेटिस मिलने के बाद दुकानदार अपना-अपना चिन्हांकित निषान तक अपना शेड तक उतरवा चुके, परन्तु प्रषासन
के ढीले रवैये के कारण वे भी अब बेखौप नजर आ रहे हैं। प्रषासन के तरफ से नोटिस के बाद आठ दिवस का समय दिया गया था परन्तु अब तो महिनों गुजर गये
और इनपर अब तक कोई भी कार्रवाही नही हुई। देखना ये है कि कब तक नगरीय प्रषासन इन कब्जाधरियों पर कार्यवाही करती है।
गौरतलब हो कि शहर की यातायात व्यवस्थाएवं सड़कों की चैड़ीकरण हेतु नगरीय प्रषासन कई बार नापजोक कर नोटिस थमा चुकी है। नोटिस मिलने के बाद
दुकानदार भी अपनी सहभागिता दिखाते हुये अपने-अपने दुकानों के शेड तक उतार दिये थे। नगर में तोड़फोड़ का इतना माहौल बन गया था कि लोग जहां तक निषान
था वहां तक अपने-अपने सामानों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाना शुरु कर दिया था। शहर के बस स्टैंड व तीनों मुख्य मार्गों पर दुकानदारों के अतिक्रमण से आम नागरिकों को काफी परेशानी हो रहा है। अतिक्रमण से सड़कें निरंतर संकरी होती जा रही हैं जिससे यातायात व्यवस्था पर विपरीत असर पड़ रहा है। शहर में कई स्थानों पर सड़कों की चैड़ाई इतनी कम हो गई है कि दो
वाहनोें का अगल-बगल से निकल पाना मुश्किल होता है। वहीं दुकानों के सामने वाहन पार्क करने अथवा सामान बाहर निकालने से समस्या और गहरा जाती है। खास
तौर पर इंदिरा चैक के आस-पास अतिक्रमण की वजह से यहां से वाहनों के आवागमन में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। नगरपंचायत व स्थानीय प्रषासन के द्वारा अतिक्रमण हटाने के लिए मुहिम तो चलाई जाती है लेकिन ठोस कार्यवाही नहीं होने की वजह से अवैध कब्जाधरियों के हौंसले बुलंद हो गए हैं। इन अतिक्रमण कारियों के चलते तीनों मुख्य मार्गों के सड़कों पर हमेषा जाम के हालात बने रहते है। काफी मर्तबा लोग यहा पर दुर्घटनाओं के शिकार भी हो चुके हैं। परन्तु प्रषासन को इससे क्या लेना देना आखिर ऐसे जटिल समस्या से प्रषासन आमजनों को निजात दिलाना क्यों नही चाहती है। नगर के संजय तिवारी ने बताया कि प्रषासन द्वारा आखिर कार्यवाही करना है तो एकतरफा कार्यवाही करे। जब प्रषासन को कार्यवाही नही करनी है तो केवल नापजोक कर, नोटिस थमाने की क्या जरुरत है।

केवल नापजोक, नोटिस पर कार्यवाही शून्य
प्रषासन की तरफ से काफी बार अतिक्रमण अभियान चलाया जा चुका है, वहीं नगरपंचायत के कर्मचारी दुकानदारों को कई बार नापजोक व नोटिस भी दी गई,
परन्तु प्रषासन के ढीले रवैये एवं कोई ठोस कार्यवाही न होने के कारणअतिक्रमण ज्यों का त्यों बनी हुई है। ऐसे में सड़कों के जाम से आम आदमी को काफी सारी परेषानियों का सामना करना पड़ता है। अब देखना होगा की प्रषासन कब अपने नींद से जागती है और शहरवासियों को जाम से छुटकारा दिलवा पाती है। पत्थलगांव के स्थानीय निवासी विवेक तिवारी ने बताया कि अधिकरियों से पुछने अपनी चुप्पी साध लेते हैं और सीधे जवाब नही दिया जाता है। सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा होता है कि आखिर अतिक्रमण कारियों पर
कार्यवाही कब होगी ? कार्यवाही कौन करेगा ? पुछने पर अधिकारी इस मामले पर अपना चुप्पी क्यों साध लेते हैं ? आखिर क्यों प्रषासन इन अतिक्रमण कारियों के सामने नाकाम साबित हो रही है।

फोटोंः- फाईल फोटो पूर्व में हुये नापजोक का

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *