Sharing is caring!

बकरी चोरों ने सरपंच पर किया जानलेवा हमला,सरपंच की हालत नाजुक


हरितछत्तीसगढ़ सजंय तिवारी/विवेक तिवारी पत्थलगांव

एक तो चोरी ऊपर से सीनाजोरी कुछ इसी तरह का मामला पत्थलगांव क्षेत्र में सामने आया 

पत्थलगांव क्षेत्र के कुकर गांव पंचायत के सरपंच सोनसाय खलको पर गांव के ही आधा दर्जन युवकों ने ताबड़तोड़ हमला करते हुए अधमरा कर दिया युवकों द्वारा सरपंच पर मीटिंग का दबाव बनाया जा रहा था। इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक कुकर गांव पंचायत में कुछ दिनों पूर्व 2 लोगों के घर से बकरी चोरी की बात सामने आई थी बकरी मालिकों द्वारा संदेह के आधार पर लक्ष्मण यादव पिता सुद्रो पर शंका जताया गया ,पूछताछ करने पर लक्ष्मण ने दोनों घर से बकरी चोरी करना कबूल कर लिया जिसके बाद ग्राम वासी बकरी चोर लक्ष्मण पर कार्रवाई करने पंचायत में बैठक आयोजित करते हुए उसे छ हजार रुपये दंडित किए जाने का फरमान सुनाया,लक्ष्मण ने मौके पर पैसे कुछ दिनों में देने की बात कही,दो दिन बाद लक्ष्मण व उसका लड़का लूकेश्वर व रामप्रसाद, नरसिंह ने दुबारा मीटिंग करने ग्रामवासियों पर दबाव बनाने लगे जब ग्रामवासी नहीं माने तो उन्होंने सरपंच को घेरना शुरू कर दिया, घटना वाले दिन सरपंच जब घर जा रहा था तो रास्ते में तलाब की मेढ़ पर बैठे लोकेश्वर ,रामप्रसाद लक्ष्मण व नरसिंह ने उसे रोक कर बकरी चोरी संबंधित फरमान को बदलने के लिए दोबारा मीटिंग करने को कहा, सरपंच ने कहा कि सभी का निर्णय है अभी मीटिंग दोबारा नहीं हो पाएगी तो उन्होंने मौके पर ही सरपंच पर को गाली गलोज करते हुए मारपीट करना शुरू कर दिया अचानक हुवे हमला से अकबकाये सरपंच भागकर कुछ दूरी पर स्थित अपने घर पहुंचा लेकिन पीछे-पीछे चारो युवकों ने भी आकर घर से उसे बाहर निकालते हुए पत्थर ओर ईंट से हमला करते हुए उसे अधमरा कर दिया उस दौरान घर में मौजूद सरपंच के बेटे और परिवार द्वारा बीच बचाव किया गया परंतु तब तक सरपंच की स्थिति नाजुक हो चुकी थी किसी तरह सरपंच को गांव में ही स्थित एंबुलेंस के माध्यम से पत्थलगांव अस्पताल लाया गया जहां उसका इलाज जारी है इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि बकरी चोर लक्ष्मण व उसके अन्य साथी पर पूर्व में भी कई अन्य मामले थाने में दर्ज है साथ ही वे झगड़ालू प्रवृत्ति के हैं उनके द्वारा इसी तरह का विवाद लगातार गांव के लोगों के साथ किया जाता है वही बकरी चोरी के मामले में लक्ष्मण द्वारा कुबूल कर लिए जाने के बाद भी फिर से मीटिंग किये जाने को लेकर कई लोगो को भी धमकाया जा चुका है। वही ताबड़तोड़ हमले के बाद सरपंच की हालत नाजुक बताई जा रही है फिलहाल चिकित्सक की देखरेख में उनका इलाज जारी है माना जा रहा है कि इस स्थिति में सुधार आते ही उन्हें बाहर कर दिया जाएगा।

Sharing is caring!