September 24, 2021
Breaking News

गाजे बाजे के साथ हुए गौरीनंदन विदा

विवेक तिवारी, हरित छत्तीसगढ़, पत्थलगांव 
पत्थलगांव। शहर की सड़क मंगलवार को गणपति बप्पा मोरेया के जयघोष से गूंजता रहा। विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों के तहत प्रतिष्ठापित श्री गणेश
जी की मूर्तियों को किलकिला मंाड नदी समेत चरखा पारा भरारी नाला में विसर्जित किया गया। गाजे-बाजे के बीच झूमते-गाते श्रद्धालुओं ने उत्साहमय माहौल में विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर भगवान गणेश को विदाई दी।
शहर के बिलाईटांगर, पुरानी बस्ती, मंडी प्रांगण, हिन्द कालोनी, अम्बिकापुर मार्ग , रेस्टहाउस के पीछे स्थापित माता ऋद्धि-सिद्धि के साथ विराजमान भगवान गणेश की प्रतिमा को विसर्जन के लिए ले जाने से
पूर्व भव्य शोभायात्रा के रूप में शहरवासियों के दर्शनार्थ शहर के तीनों मुख्य सड़कों से ले जाया गया। गणपति बप्पा मोरेया, मंगलमूर्ति मोरेया,अगले बरस तू जल्दी आ के भजनों के साथ ट्रेलर, पीकअप,ट्रैक्टर ट्राली में
मूर्ति स्थापित कर श्रद्धालु बैंडबाजों, डीजे की धुन में नाचते-गाते हुए चल रहे थे। गणपति के दर्शनों के लिए शहर की मुख्य सड़कों पर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ आया। मुख्य सड़कों से होते हुए शोभायात्रा विसर्जन के लिए रवाना हो गई। विर्सजन से पूर्व श्रद्धालुओं ने विर्सजन स्थल पहुंचकर विधिवत पूजा-अर्चना के उपरांत गणेश भगवान को विसर्जित किया। शहर के विभिन्न स्थानों पर विराजे गजानन की शोभायात्रा मे करमा नृत्य मंडली
द्वारा आर्कषक वाद्य यंत्र के साथ बेहतरीन प्रस्तुती दी गई। वहीं इस दौरान भारी आतिशबाजी का भी नजारा दिखाया जा रहा था। विर्सजन के दौरान में उसमे शामिल स्थानीय श्रद्धालुओं ने कामना की कि अगले वर्ष भी यह महोत्सव
खुशियां लेकर आए।

गणपति बप्पा मोरिया पर झूम रहे थे युवा मंगलवार के दिन गणपति बप्पा मोरिया, मंगल मूर्ति मोरिया. , गौरी नंदन भगवान गणेश की जय.. के जयघोष से पत्थलगांव शहर गूंज उठा। गौरी नंदन भगवान
गणेश को विदा करने के लिए बैंडबाजों के बीच श्रद्धालुओं द्वारा नाचते गाते निकली शोभायात्रा से वातावरण भक्तिमय नजर आ रहा था। सेठ पारा से निकली गणेश भगवान की शोभायात्रा मे शमिल भक्तो का रैला देखकर ऐसा लगा रहा था मानों किसी त्योहार पर मेला लगा हुआ हो। अम्बिकापुर रोड सेठ पारा के निवासी संजू लोहिया, अतुल त्रिपाठी, केषव लोहिया, अंकित अग्रवाल, हिमांषु
शर्मा, मयंक रोहिला, सचिन रोहिला, दिपेष रोहिला एवं अन्य युवाओं के द्वारा गणेष भगवान की प्रतिमा विसर्जन करने झांकी के दौरान डीजे, करमा एवं अन्य वाद्य यंत्रों की व्यवस्था कर रखे थे। मंडी प्रांगण समिति के युवाओं के द्वारा धमाल के धुन की मनमोहक व्यवस्था की गई थी इनकी झांकी रैली देखते ही बन रही थी। युवा घाट पर देर शाम तक बैंड-बाजों के बीच बप्पा के जयघोष गूंज के साथ झूमते हुये नजर आ रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *