January 20, 2022
Breaking News

विद्यालयों में मनाया गया शिक्षक दिवस

विवेक तिवारी, हरित छत्तीसगढ़, पत्थलगाँव
पत्थलगांव। पत्थलगांव के सरस्वती  शिशु मंदिर में प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी विद्यालय के सभा कक्ष में हर्ष उल्लास के साथ  शिक्षक दिवस का कार्यक्रम मनाया गया। कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों के द्वारा मां सरस्वती, भारत माता के प्रतिमा के सामने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई।
विदित हो कि देष भर में शिक्षक दिवस 05 सितंबर को मनाया जाता है। देश के पहले उप राष्ट्रपति डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के मौके पर शिक्षक दिवस हर साल 5 सितंबर को मनाया जा रहा है। डा. राधाकृष्णन न सिर्फ पहले उप-राष्ट्रपति थे, बल्कि वे देश के दूसरे राष्ट्रपति भी थे। इसके अलावा डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने 40 सालों तक   शिक्षक के रूप में कार्य किया। इस कार्यक्रम के दौरान विद्यालय के सागर यादव ने कहा कि शिक्षक अपने छात्र-छात्राओं को कल और अच्छे इंसानों के बीच रहने के लिये जिम्मेदार नागरिक बनाने में एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं। शिक्षकों के बिना हमारे जीवन की कल्पना करना असंभव है वे हमारे भविष्य की आधारशिला हैं। भावना लता कुर्मी के द्वारा गुरुओ की महत्ता का एक सुन्दर वर्णन करते हुये कहा कि हम एक शिक्षक के जीवन में अपने विशाल योगदान के लिए शिक्षकों को कभी भी धन्यवाद नहीं दे सकते। हमारे शिक्षकों द्वारा हमारे विकास के लिए कड़ी मेहनत की हमारी स्वीकृति और मान्यता दिखाने के लिए शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इनके द्वारा एकलव्य एवं गुरु द्रोण के बीच गुरुभक्ति का अनुपम उदाहण दिया गया। विद्यालय के प्राचार्य संतोष कुमार पाढ़ी ने विद्यालय के समस्त विद्यार्थीयों के उज्जवल भविष्य के मंगल कामना की। विद्यालय समिति के अध्यक्ष के द्वारा अपने उद्बोधन में कहा कि सबसे पहला गुरु अपने माता-पिता को श्रेय देना चाहिये। उन्होने कहा कि गुरु की महत्ता कभी भी समाप्त नही होती, गुरु ही विद्यार्थीयों के भविष्य को अंधकार से उजाले की ओर ले जाते हैं। विद्यालय प्रबंधन के द्वारा समस्त शिक्षकों एवं षिक्षिकाओं को श्रीफल एवं शाल भेंट कर सम्मानित किया गया।

इस कार्यक्रम के दौरान समिति के अध्यक्ष मुरारी लाल अग्रवाल, व्यवस्थापक राजेन्द्र प्रसाद अग्रवाल, महेष्वर चक्रवर्ती एवं विद्यालय के समस्त विद्यार्थी, षिक्षक, षिक्षिका उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *