September 24, 2021
Breaking News

मीट के एड में भगवान गणेश को दिखाने से खड़ा हुआ विवाद, पढ़े खबर

मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया में एक कंपनी ने एक एड के जरिए मेमने के मांस को प्रमोट करने की कोशिश की लेकिन इन्होंने इस एड में भगवान गणेश को भी दिखाया है। इस एड के जारी होने के बाद यहां का हिंदू समुदाय काफी नाराज है और इस पर विवाद खड़ा हो गया है। उन्होंने एड को वापस लेने की मांग की है। इस विज्ञापन में गणेश के अलावा यीशु, बुद्ध, थॉर को खाने की एक मेज के चारों ओर बैठकर मेमने के मांस पर चर्चा करते हुए देखा जा सकता है।‘मीट एंड लिवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया’ (MLA) नाम की इस कंपनी की वेबसाइट पर इसने खुद को ऑस्ट्रेलियाई सरकार की सहयोगी कंपनी बताया है। इस एड को सोमवार को जारी किया गया था जिससे विवाद शुरू हो गया है। ऑस्ट्रेलिया में इस तरह के ऐड कंटेंट पर नजर रखने वाली एजेंसी ‘ऑस्ट्रेलियन स्टैंडर्ड्स ब्यूरो’ इसकी जांच कर रहा है।एड की टैग लाइन ‘द मीट-वी कैन ऑल ईट’ यानी वो मीट जिसे हम सभी खा सकते हैं, भी विवादित है।‘इंडियन सोसाइटी ऑफ वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के प्रवक्ता नितिन वशिष्ठ ने विज्ञापन को असंवेदनशील करार देते हुए कहा, ‘उन्हें मेमने का मांस खाते हुए और अपने लिए नई मार्केटिंग नीति पर विचार करते हुए दिखाया गया है। समुदाय के लिहाज से वह बहुत असंवेदनशील है।

’एमएलए समूह के मार्केटिंग मैनेजर एंड्रयू होवी ने कहा कि ‘यू नेवर लैंब अलोन’ के बैनर तले यह अभियान चल रहा है। इसमें बताया गया है कि आप किसी भी धर्म को मानने वाले हों, चाहे जो आपका पृष्ठभूमि हो, लेकिन इस मीट के लिए सब एक हो जाते हैं। मेमने का मांस कई दशकों से लोगों को जोड़ता रहा है और यह मॉडर्न बारबेक्यू है। हमारी मार्केटिंग का टारगेट ये है कि अलग-अलग मजहबों तक इसे पहुंचाना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *