August 3, 2021
Breaking News

रायपुरः मिशन 2018 के लिए कांग्रेस का नया फॉर्मूला, मौजूदा विधायकों के टिकट काटने पर विचार

रायपुरः छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने की कोशिशों में जुटी कांग्रेस अब संगठन को मजबूत करने के साथ साथ नई रणनीति पर भी काम कर रही है और वो है जीताऊ उम्मीदवार को टिकट देना। इसके लिए यदि मौजूदा विधायकों के टिकट काटने भी पड़े तो काटे जाएंगे, इसके संकेत छत्तीसगढ़ के नए प्रभारी पीएल पुनिया ने दे दिए हैं।

 

 

 

कांग्रेस के नए प्रभारी पीएल पुनिया के साथ हुई समन्वय बैठक में इसबात पर भी चर्चा हुई। मिशन 2018 को फतह करने के लिए कांग्रेस अब पारंपारिक रणनीति के अलावा इस नई रणनीति पर भी काम करेगी। बैठक में इस पर जमकर बहस और चर्चा हुई और तय हुआ कि एंटी इनकंबेंसी दूर करने के लिए ये जरूरी है।तय फॉर्मूले मुताबिक कांग्रेस उन विधायकों के टिकट काटेगी जहां कांग्रेस को ज्यादा जीत मिली है यानी बस्तर और सरगुजा। दोनों क्षेत्रों से कांग्रेस के 19 विधायक जीतकर आए है। वहीं मैदानी इलाकों के साथ साथ पिछली बार टिकट पाने वालों के चेहरे भी बदले जा सकते है फॉर्मूला केवल एक है, जीताऊ चेहरा।बीजेपी ये प्रयोग हर चुनाव में करती रही है, जिसका फायदा उसे मिल भी रहा है। कांग्रेस के ऐसा करने की वजह भी है।  2013 में कांग्रेस के मौजूदा 27 विधायकों को हार का सामना करना पड़ा था। कांग्रेस ने चेहरे नहीं बदले तो जनता ने क्षेत्र में चेहरा बदल दिया। लिहाजा अब कांग्रेस चुनाव के पहले ही चेहरा बदलने के फॉर्मूले पर काम कर रही है। हालांकि इससे उपजने वाले असंतोष से कांग्रेस कैसे निपटेगी ये अभी साफ नहीं है।

   सक्रिय और युवा कार्यकर्ताओं को मिलेगा टिकट 

वहीं पुनिया शुक्रवार को बालौदा बाजार के गिरौदपुरी धाम भी पहुंचे और गुरु गद्दी के दर्शन किए इसके बाद पुनिया छत्तीसगढ़ के प्रथम शहीद वीर नारायण सिंह की समाधी पर पहुंचे और वहां माल्यार्पण किया। पुनिया के दौरे से कांग्रेस कार्यकर्ता उत्साहित नजर आए। बलौदाबाजार से गिरौदपुरी तक पुनिया का भव्य स्वागत किया, स्वागत करने वालों में वो नेता भी शामिल थे जो इस चुनाव में टिकट के दावेदार थे। हालांकि पुनिया ने कहा जो सक्रिय कार्यकर्ता है और जो चुनाव जीत सकता है ऐसे लोगों को टिकट दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *