Sharing is caring!

गडकरी और RSS कर रहे पीएम की हत्या की साजिश, गडकरी ने दी चेतावनी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और शेहला रशीद

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तरह मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश के मसले पर जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद के ट्वीट से बवाल मच गया है. एनयू छात्र संघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद के केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को लेकर किए गए ट्वीट पर विवाद बढ़ गया है. शेहला ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और आरएसएस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने में शामिल होने का सनसनीखेज आरोप लगाया है.  इससे बिफरे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है.नाराज केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है. आरोपों को लेकर शेहला और नितिन गडकरी के बीच ट्विटर पर जंग हो गई.

शेहला रशीद ने क्या लिखा?

add


जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष और वामपंथी नेता शेहला रशीद ने ट्वीट किया, ”आरएसएस और नितिन गडकरी पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं. इनको देखो, फिर मुसलमानों और कम्युनिस्टों पर आरोप लगाओ और फिर मुस्लिमों की लिंचिंग करो.” शेहला ने अपने ट्वीट के साथ #RajivGandhiStyle का प्रयोग किया.

वामपंथी कार्यकर्ता शेहला रशीद ने ट्वीट किया कि RSS और नितिन गडकरी पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं. इनको देखो, फिर मुसलमानों और कम्युनिस्टों पर आरोप लगाओ. और फिर मुस्लिमों की लिंचिंग करो. जेएनयू की पूर्व छात्र नेता रशीद के इस ट्वीट पर नितिन गडकरी ने कड़ी आपत्ति जताई और मामले में कानूनी कार्रवाई करने की बात कही.जब केंद्रीय मंत्री गडकरी को शेहला रशीद द्वारा लगाए आरोप की जानकारी हुई, तो उन्होंने फौरन इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए एक ट्वीट किया. शेहला के ट्वीट के जवाब में बिना नाम लिए गडकरी ने लिखा, ‘मैं उन असामाजिक तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं, जिन्होंने मुझ पर पीएम मोदी को डराने के लिए हो रही हत्या की साजिश के मामले को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है.’दरअसल, माओवादियों की एक चिट्ठी सामने आई है, जिसमें राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने का खुलासा हुआ है. 18 अप्रैल को रोणा जैकब द्वारा कॉमरेड प्रकाश को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया कि हिंदू फासिस्म को हराना अब काफी जरूरी हो गया है. मोदी की अगुवाई में हिंदू फासिस्ट काफी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, ऐसे में इन्हें रोकना जरूरी हो गया है.

इसमें लिखा है कि मोदी की अगुवाई में बीजेपी बिहार और बंगाल को छोड़ करीब 15 से ज्यादा राज्यों में सत्ता में आ चुकी है. अगर इसी तरह ये रफ्तार आगे बढ़ती रही, तो माओवादी पार्टी को खतरा हो सकता है. इसलिए वह सोच रहे हैं कि एक और राजीव गांधी हत्याकांड की तरह घटना की जाए.

इस चिट्ठी में कहा गया कि अगर ऐसा होता है, तो ये एक तरह से सुसाइड अटैक लगेगा. हमें लगता है कि हमारे पास ये चांस है. मोदी के रोड शो का टारगेट करना एक अच्छी प्लानिंग हो सकती है.

Sharing is caring!