Sharing is caring!

जानें- कैसे हुई थी राजीव गांधी की हत्‍या, मोदी को भी मिली है धमकी

विज्ञापन

Big disclosure: like Rajiv Gandhi's plot to kill PM Modi,

भीमा-कोरेगांव में इस साल जनवरी में भड़की हिंसा मामले की जांच कर रही पुणे पुलिस ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है। पुणे पुलिस ने माओवादियों के इंटरनल कम्युनिकेशन को इंटरसेप्ट करने का दावा करते हुए कहा कि इससे पता चलता है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ राजीव गांधी की तरह ही हत्या की साजिश रची गई थी। गौरतलब है कि 21 मई, 1991 को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या चुनावी कैम्पेन के दौरान पड़ोसी देश श्रीलंका से आए आत्मघाती हमलावर ने तमिलनाडु के श्रीपेरूम्बदुर में की थी।

बता दे की भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में पांच संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद नक्सलियों की ओर से PM मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने का सनसनीखेज खुलासा हुआ। पुणे पुलिस ने गुरूवार को कोर्ट को यह बताया कि उन्होंने भीमा-कोरेगांव हिंसा को लेकर जिन पांच लोगों को गिरफ्तार किया है उनमें से नक्सलियों के संपर्क में रहने के आरोप में दिल्ली से गिरफ्तार किए गए रोना जैकब विल्सन के पास से मिली चिट्ठी से साजिश का खुलासा हुआ।

जानें- कैसे हुई थी राजीव गांधी की हत्‍या, मोदी को भी मिली है धमकीएकऔर राजीव गांधी की तरह घटना

इस पत्र में यह कहा गया- “मोदी के नेतृत्व में हिन्दू फासिस्टवाद के चलते आदिवासियों का जीना दूभर हो गया है। बिहार और पश्चिम बंगाल में बड़ी हार के बावजूद मोदी 15 से ज्यादा राज्यों में अपनी सरकार बनाने में कामयाब रहे। अगर यह सिलसिला जारी रहा तो इसका ये मतलब होगा कि पार्टी को सभी मोर्चे पर भारी संकट से जूझना पड़ेगा। विरोधियों के लिए यह बड़ी रूकावट है।” पत्र में आगे कहा गया- “कॉमरेड किशन और कुछ अन्य सीनियर कॉमरेड्स ने कुछ ठोस प्रस्ताव दिये हैं ताकि मोदी राज को ख़त्म किया जा सके। हम एक और राजीव गांधी की तरह घटना के बारे में सोच रहे हैं।……. रोड शो का टारगेट करना प्रभावकारी रणनीति होगी। हम सभी यह मानते है कि हम सभी के बलिदान से बढ़कर है पार्टी का जीवित रहना।” हालांकि यह पहली बार नहीं है कि किसी ने पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी दी हो।   2014 में मोदी के पीएम बनते ही उनकी सुरक्षा व्‍यवस्‍था को काफी मजबूत कर दिया गया था।
बुलेटप्रुफ बीएमडब्ल्यू 7 में सफर
बता दे की पीएम मोदी जहां भी जाते हैं, वहां जमीन से लेकर आसमान तक चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाती है। सूत्रों के अनुसार मोदी की सुरक्षा व्‍यवस्‍था मनमोहन सिंह की तुलना में दोगुनी है। एसपीजी जवानों के हाथ में उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी है। मोदी की सुरक्षा में सामने और अज्ञात रूप से कम से कम एक हजार से ज्यादा कमांडो तैनात रहते हैं।पीएम मोदी एडवांस सुरक्षा वाली बुलेटप्रुफ बीएमडब्ल्यू 7 में सफर करते हैं। हमलावरों को संदेह में रखने के लिए उनके काफिले में दो डमी कारें भी चलती हैं। सफर शुरू होने से पहले मोदी के काफिले में चलने वाली कारों की एसपीजी अच्छी तरह जांच करती है। उनके काफिले में एक गाड़ी में जैमर मौजूद होता है, जिसमें दो एंटिना फिट रहते हैं। ये सड़क के दोनों तरफ 100 मीटर की दूरी तक रखे विस्फोटक को निष्क्रिय कर सकते हैं। साथ ही किसी भी संदिग्‍ध सिग्‍नल को पीएम के काफ‍िले तक पहुंचने से रोकते हैं।
खास ब्‍लैक कलर के चश्मे का प्रयोग
पीएम मोदी के आसपास कई जवान स्‍नाइपर के रूप के तैनात रहते हैं। रैल‍ियों में या कार्यक्रम के दौरान पीएम के आगे-पीछे सादे कपड़ों में एनएसजी के कमांडो चलते हैं। साथ ही कई कमांडों खुफ‍िया वेष में आस-पास तैनात रहते हैं। एसपीजी के कमांडो के खास तरह की राइफल रहती है, जिससे एक मिनट में 800 फायर हो सकता है। सूत्रों के अनुसार पीएम के आसपास के लोगों पर नजर रखने के लिए एसपीजी जवान खास ब्‍लैक कलर का चश्‍मा पहनकर चलते हैं। प्रधानमंत्री के सात रेसकोर्स रोड स्थित आवास पर भी एसपीजी के 500 से ज्यादा कमांडो तैनात रहते हैं।

यह भी पढ़े :गडकरी और RSS कर रहे पीएम की हत्या की साजिश, गडकरी ने दी चेतावनी

विमान में सुरक्षा की एडवांस टेक्‍नॉलजी
पीएम के विदेश दौरों के लिए खासतौर पर तैयार एयरइंडिया के विमान का इस्‍तेमाल होता है. इस विमान में सुरक्षा के एडवांस टेक्‍नॉलजी मौजूद रहती है, जिसपर मिसाइल से भी हमला करना लगभग नामुमकिन है। पीएम के विमान के उड़ान भरने से पहले पूरे इलाके को नो फ्लाइंग जोन में बदल दिया जाता है। पीएम की सुरक्षा में एक खास तरह के ब्रीफकेस का भी इस्‍तेमाल होता है। यह ब्रीफकेस समय आने पर सुरक्षा कवच भी बन सकता है। इसमें कई तरह के हथ‍ियार भी रहते हैं।

Sharing is caring!