Sharing is caring!

संविलियन कि घोषणा का स्वागत पर शर्ते नही होगी मंजूर.. देवेंद्र साहू

राजनांदगांव*, छुरिया अम्बिकापुर के विकास यात्रा मे जहां मुख्यमंन्त्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के शिक्षाकर्मीयों को चुनावी वर्ष में संविलियन का तोहफा दिया है जिससे शिक्षाकर्मीयों में खुशी कि लहर दौड गइ है, लेकिन शिक्षाकर्मी इसमें किसी भी प्रकार के शर्त या बंधन को स्वीकार करने के मूड में नहीं है इस सम्बंध मे विस्तृत जानकारी देते हुए छत्तीसगढ़ पंचायत ननि मोर्चा के जिला संचालक गोपी वर्मा छत्तीसगढ़ पंचायत नगरीय निकाय शिक्षाकर्मी संघ के जिला अध्यक्ष ने बताया कि शिक्षाकर्मी संविलियन के निर्णय का स्वागत करते है और डॉ. रमन सिंह के प्रति आभार व्यक्त करते हैं,
लेकिन संविलियन में किसी भी प्रकार के वर्ष बंधन व शर्तो को हम कदापि नही स्वीकार सकते, क्योंकि पडोसी राज्य मध्यप्रदेश में बिना वर्ष बंधन के सभी अध्यापकों को समान पद समान वेतनमान मे संविलियन करने का आदेश दिया है ज्ञात हो कि शिक्षाकर्मी विगत तेइस सालों से संविलियन के लिए संघर्ष कर रहे हैं जिसके कारण हमारा पूरा हक संविलियन पर बनता है प्रदेश के संवेदनशील मुख्यमंन्त्री हमारी भावनाओं को समझेगे यही विश्वास के साथ बिना कोइ शर्तो के संविलियन कि मांग करते हैं।
मीडिया प्रभारी देवेंद्र साहू ने केबिनेट की बैठक में शासकीय शिक्षकों के समान ही एक ही कैडर में संविलियन करने की मांग दोहराई तथा सभी शिक्षकों का संविलियन करने की मांग की।

Sharing is caring!