Sharing is caring!

तेज बारिश ने नगर पंचायत कोटा के स्वच्छ भारत अभियान, की पोल खोली जगह-जगह कचरा का ढेर


सफाई ना होने से वार्डों सहित चौक-चौराहों पर कचरों के ढेर से दुर्गंध आने-जाने वाले लोगों की मुश्किलें बढ़ी

प्लेसमेंट एजेंसी के सफाई कर्मियों के भरोसे पूरा कोटा नगर पंचायत,वेतन ना मिलने से हड़ताल पर गए सफाई कर्मी।

*दिनांक:-14-06-2018*

संवाददाता:–मोहम्मद जावेद खान करगी रोड कोटा हरित छत्तीसगढ़

करगीरोड कोटा:- पिछले 3 दिनों से कोटा नगर पंचायत के 15 वार्डों में साफ सफाई नहीं होने से पूरे नगर पंचायत में कचरों का ढेर लगा हुआ है, बीते रात में हुई तेज बारिश से मुख्य चौक-चौराहों के साथ बस स्टैंड में साप्ताहिक बाजार, वाली जगहों पर पूरा कचरा फैल गया है, नालियों का कचरा सड़कों पर और रास्तों पर फैल गया है,आने जाने वाले लोगों का कचरे से निकलने वाली दुर्गंध से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है,बरसात की पहली बारिश से ही पूरा नगर पंचायत की नालियों का पानी सड़कों पर दिखाई पड़ रहा है,नालियों में बहने वाला पानी सड़कों पर बह रहा है, बस स्टैंड में फैली गंदगी से बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है सैकड़ों लोगों का आना जाना बस स्टैंड में होता है बैठो ना होता है,जहां पर यात्री कर बैठते हैं वहीं पर गंदगी फैली हुई है जिसमें महिलाएं और बच्चों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है।


कुछ महीनों पहले स्वच्छ भारत अभियान स्वच्छता पखवाड़ा पूरे नगर पंचायत कोटा में मुख्य नगर पंचायत अधिकारी के साथ नगर पंचायत कर्मचारी और जनप्रतिनिधिगण, भी शामिल होकर हाथों में झाड़ू लेकर साफ सफाई की गई थी, जो कि केवल तस्वीरों में कैद होकर रह गई थी, उसके बाद स्वच्छ भारत मिशन, स्वच्छता, वाले स्लोगन वर्तमान में कोटा नगर पंचायत में दिखाई नहीं पड़ रहे हैं,सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सफाई कर्मियों को वेतन नहीं मिलने के कारण सफाई कर्मियों ने काम बंद कर हड़ताल पर चले गए हैं, नगर पंचायत कोटा में प्लेसमेंट एजेंसी के तहत 30 से 35 सफाई कर्मचारी हैं, उसके अलावा परमानेंट सफाई कर्मियों में केवल 5 रह गए हैं, जिनमें से चार महिलाएं हैं ,उनमें से भी कुछ कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है ,कुछ मेडिकल लीव पर है, कुल मिलाकर पूरे 15 वार्डों की सफाई के साथ नगर की साफ-सफाई की जवाबदारी का जिम्मा प्लेसमेंट एजेंसी के भरोसे होकर रह गई है ,समय में वेतन नहीं मिलने के कारण प्लेसमेंट एजेंसी के कर्मचारीयो ने काम बंद कर दिया है, सफाई जैसे कार्य के लिए जो कि सफाई कर्मचारियों के लिए रोज का विषय है, 1 दिन सफाई नहीं होने से पूरे नगर पंचायत कोटा के चौक-चौराहों सहित वार्डों में कचरों का अंबार लगा हुआ है, नगर पंचायत कोटा के 15 वार्डों में रहने वाले आमजन द्वारा समय पर टैक्स पटाने के बाद भी उन्हें इन सभी बुनियादी सेवाओं से वंचित रहना पड़ता है, कल हुई तेज बारिश की वजह से वार्डों चौक-चौराहों सार्वजनिक जगहों में कचरा का ढेर लगने से दुर्गंध आने लगी है, लोगों ने बीमारी फैलने की आशंका जताई और बताया कि जल्द ही इस समस्या का निराकरण नगर पंचायत अधिकारी और नगर पंचायत अध्यक्ष को करना चाहिए सफाई कर्मचारियों को समय में वेतन प्रदान करना चाहिए सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखना चाहिए।


*मुख्य नगर पंचायत अधिकारी सुश्री सागर राज से फोन से संपर्क कर जानकारी लेने की कोशिश की गई पर मुख्य नगर पंचायत अधिकारी द्वारा फोन रिसीव नहीं किया गया नगर पंचायत के अन्य कर्मचारी से जानकारी लेने पर बताया गया कि नगर पंचायत अधिकारी रायपुर प्रवास पर है और प्लेसमेंट एजेंसी का मई माह का वेतन नहीं दिया गया है, रेगुलर सफाईकर्मियों का अगस्त माह का वेतन हो गया है,मई माह का वेतन नहीं हो पाया है।*


*नगर पंचायत अध्यक्ष मुरारी गुप्ता से इस बारे में जानकारी लेने पर बताया गया कि कुछ तकनीकी समस्या आ जाने की वजह से प्लेसमेंट एजेंसी वालों का वेतन नहीं हो पाया था जो कि आज की तारीख में हो जाएगा और कल से पुनः सुचारु रुप से नगर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त कर ली जाएगी साथी रेगुलर सफाई कर्मियों को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है नोटिस मिलने के बाद रेगुलर सफाई कर्मीयो द्वारा कार्य शुरू कर दिया गया है।*

Sharing is caring!