Sharing is caring!

bathमहाराष्ट्र के जलगांव जिले के जामनेर तालुका के पाहुर गांव में पिछडे़ समुदाय से आने वाले नाबालिग किशोरों को पीटने के बाद पूरे गांव के सामने नग्न अवस्था में घूमने के लिए मजबूर किया गया। इनमें से एक की उम्र 15 साथ थी, जबकि दूसरा 16 साल का था। इन किशोरों का कसूर मात्र इतना था कि वे पड़ोस के गांव वकाडी में दूसरी जाति के एक किसान के कुएं में नहाने के लिए कूद गए थे।

पुलिस के अनुसार, कुएं के मालिक ने अपने नौकर के साथ मिलकर इन दोनों के साथ ये बर्बरता दिखाई। 10 जून के इस मामले की जानकारी किशोरों के परिजनों को इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मिली और उन्होंने पुलिस से संपर्क किया। पाहुर थाना पुलिस ने 10 जून की रात को पीड़ित किशोरों में से एक के पिता की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए आरोपी ईश्वर जोशी और प्रहलाद लोहार को गिरफ्तार कर लिया और 11 जून को कोर्ट के सामने पेश करते हुए उन्हें जेल भेज दिया। उधर, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने आरोप लगाया है कि राज्य में भाजपा के सत्ता में आने के बाद दलितों के खिलाफ इस तरह की घटनाएं बढ़ी हैं।

गुजरात में राजपूती ‘मोजड़ी’ पहनने पर नाबालिग दलित पीटा

गुजरात में 13 साल के एक दलित किशोर को चार राजपूतों ने मोजड़ी (एक तरह की परंपरागत राजपूती जूती) पहनने पर बुरी तरह पीट दिया। मेहसाणा जिले के बहुचाराजी कस्बे में बुधवार को हुई इस घटना का वीडियो बृहस्पतिवार को सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सभी को घटना का पता लगा। बहुचाराजी पुलिस के सब इंस्पेक्टर आरआर सोलंकी ने बताया कि पीड़ित दलित किशोर अहमदाबाद जिले के विठ्ठलपुर गांव का रहने वाला है, जबकि चारों आरोपियों में से एक की पहचान भरत सिंह दरबार के रूप में हुई है। चारों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Sharing is caring!