Sharing is caring!

हाफिज सईदमुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के संगठन जमात उद दावा को भले ही पाकिस्तान सरकार ने गैरकानूनी घोषित कर दिया हो लेकिन सईद ने शनिवार को यहां के कद्दाफी स्टेडियम में कड़ी सुरक्षा के बीच ईद उल फितर की नमाज की अगुआई की।इलाके को सुरक्षित रखने के लिए पुलिसकर्मियों को स्टेडियम के अंदर और बाहर तैनात किया गया था। सईद के अपने सुरक्षाकर्मी भी उनके साथ तैनात थे । जमात उद दावा प्रमुख ने इस मौके पर धर्मोपदेश भी दिया। उसने पाकिस्तानी नागरिकों से कश्मीर के लोगों का पूरा समर्थन करने को कहा। पाकिस्तान में सईद का संगठन जमात उद दावा प्रतिबंधित है। लेकिन उसे जन रैलियां और सभाओं की अगुआई करने की अनुमति है। अमेरिका ने जून 2014 में जमात उद दावा को एक विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया था। आतंकी गतिविधियों में शामिल रहने के लिए हाफिज के सिर पर एक करोड़ डॉलर का ईनाम रखा गया है। भारत का मोस्टवांटेड आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद ने जारी किया है एक वीडियो. वीडियो में हाफिज ने कश्मीर के पत्थरबाजों को ईद की मुबारक दी है. उन्हें आजादी का सिपाही कहा है.

Sharing is caring!