Sharing is caring!

पीएम मोदी को वादा याद दिलाने पैदल दिल्ली आ रहा युवक, आगरा में हुआ बेहोश

अपनी पैदल यात्रा के दौरान मुक्तिकांत आगरा के आसपास हाईवे पर गिरकर बेहोश हो गए थे.नई दिल्ली. पीएम मोदी को अपना वादा याद दिलाने कि लिए 30 वर्षीय युवक मुक्तिकांत 1350 किलोमीटर पैदल यात्रा कर दिल्ली आ रहा है. हालांकि वह अब तक आगरा ही पहुंचा है यानी कि 200 किलोमीटर की यात्रा अभी और शेष है. मु्क्तिकांत का कहना है कि 2015 में पीएम मोदी जब ओडिशा दौरे पर आए थे तो उन्होंने वादा किया था कि वो इस्पात जनरल हॉस्पिटल को अपग्रेड कर सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल बना देंगे. इसके अलावा ब्राह्मनी पुल का काम पूरा कर दिया जाएगा. चार साल बीत जाने के बाद भी काम अब तक पूरा नहीं हो पाया है. ओडिशा का रहने वाला मुक्तिकांत बिस्वाल पेशे से मुर्तिकार है. उसे उम्मीद है कि उसके गांव में मेडिकल सुविधा और इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ेगी. इसी उम्मीद में मुक्तिकांत 16 अप्रैल को राउरकेला से अपने हाथों में तिरंगा लेकर पैदल ही दिल्ली की तरफ रवाना हो गया लेकिन आगरा में आकर उसकी तबीयत ख़राब हो गई. मुक्तिकांत ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैं पीएम मोदी से अपने गांव के अस्पताल के अपग्रेडेशन और इंफ्रास्ट्रक्चर के काम को पूरा करवाने के निवेदन के साथ मिलने जा रहा हूं.’ उसने कहा, ‘इस्पात जनरल अस्पताल राउरकेला के लिए लाइफलाइन है लेकिन इसकी हालत बेहद ख़राब है लोग यहां हर रोज़ मर रहे है. हालांकि पीएम मोदी ने पिछले 4 साल में इस अस्पताल के लिए कुछ नहीं किया है इसके बावजूद मुझे उम्मीद है कि इस साल वो इसके विकास के लिए कुछ करेंगे. मुक्तिकांत ने कहा, ‘पीएम मोदी से निवेदन है कि मेरे होमटाउन के इस्पात जनरल हॉस्पिटल को सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में अपग्रेड किया जाए और राउरकेला के ब्राह्मनी ब्रिज के निर्माण कार्य को पूरा किया जाए, जो लाइफलाइन है.

मैंने अब तक 1350 किलोमीटर पैदल यात्रा की है आगे अभी मुझे 200 किलोमीटर की यात्रा और करनी है. बता दें कि शुक्रवार को मुक्तिकांत आगरा में एनएच-2 पर बेहोश होकर गिर पड़ा था जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया.

Sharing is caring!