November 29, 2021
Breaking News

खुंखार भालुओं ने जंगल में लकड़ी लेने गए ग्रामीणों पर किया हमला, दो को उतारा मौत के घाट, एक गंभीर……

हरित छत्तीसगढ़ पप्पू जायसवाल 


छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में रामानुजनगर वन परिक्षेत्र स्थित ग्राम राजापुर के जंगल में रविवार की अलसुबह १० महिला-पुरुष जलावन लकड़ी लेने गए थे। इसी दौरान नर व मादा भालू समेत उनके 2 शावकों ने अचानक उनपर हमला कर दिया। भालुओं ने 3 ग्रामीणों को अपने पंजों में दबोच लिया तथा उनके सिर, सीने व पेट पर पैने नाखूनों व दांतों से कई वार किए। हमले में 2 ग्रामीणों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गया।

घायलावस्था में ही वह भालुओं के चंगुल से छूटकर अपनी जान बचाकर भागने में कामयाब रहा। अन्य ग्रामीणों के हो-हल्ला करने के पर भालू जंगल में भाग गए। ग्रामीणों द्वारा घायल को सूरजपुर Hospital में भर्ती कराया गया। वहीं सूचना पर वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिजनों को 25-25 हजार रुपए तथा घायल को 5 हजार रुपए तात्कालिक सहायता राशि के रूप में प्रदान करने की घोषणा की। भालुओं के हमले में मौत से ग्रामीणों में दहशत का आलम है।

इस संबंध में क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य भूलन सिंह मराबी एवं थाना प्रभारी रामेन्द्र सिंह ने बताया कि रामानुजनगर वन परिक्षेत्रान्तर्गत ग्राम राजापुर के पण्डो बस्ती से लगे जंगल में रविवार को अलसुबह करीब 10 की संख्या में पण्डो जनजाति वर्ग के महिला-पुरुष जलावन के लिए लकड़ी लाने गये थे। उसी दौरान जंगली भालूओं ने ग्रामीणों पर हमला कर दिया।
इससे राजापुर पण्डोपारा बस्ती के भूलनराम पण्डो पिता वीरसाय पण्डो लगभग 50 वर्ष और महिपाल पण्डो पिता रामप्रसाद पण्डो 55 वर्ष की मौके पर मौत हो गई। वहीं भालुओं के हमले से ग्राम कोट पटना निवासी 32 वर्षीय मोहन राम केंवट पिता ठाकुर प्रसाद गंभीर रूप से जख्मी होने के बावजूद जान बचाकर भागने में सफल रहा।

ग्रामीणों ने बताया कि जंगल में एक मादा भालू ने शावकों के साथ डेरा जमा लिया है, जिसमें एक नर भालू भी शामिल है। ग्रामीणों का मानना है कि लकड़ी एकत्रित करते करते जब मृतक भालू के शावकों के करीब पहुंच गये होंगे तो नर व मादा भालुओं ने ग्रामीणों पर हमला कर दिया होगा।

घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे जिला पंचायत सदस्य भूलन सिंह ने क्षेत्र के रेंजर एसएन सिंह को जानकारी दी और जब वे घटना स्थल पर पहुंचे तो मृतकों के अंतिम संस्कार हेतु और जख्मी ग्रामीण के उपचार हेतु आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग की। जिस पर रेंजर एसएन सिंह ने मृतक भूलनराम पण्डो और महिपाल पण्डो के परिजनों को 25-25 हजार रुपये तथा जख्मी युवक के इलाज हेतु 5 हजार रुपये की राशि जारी करने की घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *