September 24, 2021
Breaking News

शिकागो भाषण के 125वीं वर्षगांठ पर विवेकानंद को नमन कर भाजयुमो ने सुना पीएम का भाषण

हरित छत्तीसगढ़ रायपुर
भारतीय जनता युवा मार्चा राजधानी रायपुर के कार्यकर्ताओं ने जिला अध्यक्ष राजेश पांडेय के नेतृत्व में स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मशताब्दी वर्ष के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वार विज्ञान भवन दिल्ली में युवाओं को संबोधन लाइव कार्यक्रम सुना। भाजयुमो के मीडिया प्रभारी उमेश घोरमोड़े ने बताया कि भाजयुमो कार्यकर्ता स्वामी विवेकानंद जी को अपना आदर्श मानते है और विवेकानंद जी के शिकागो भाषण के 125वीं वर्षगांठ के अवसर पर युवाओं के प्रेरणास्त्रोत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का युवाओं के लिए उद्बोधन सुनने का हमे अवसर भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर रायपुर में मिला। भाजयुमो जिला अध्यक्ष राजेश पांडेय ने इस अवसर पर कहा कि 11 सितंबर 1893 को शिकागो में स्वामी विवेकानंद जी का ऐतिहासिक भाषण भारतवासियों को गौरवान्वित करता है जब एक भारतीय युवा ने शिकागो अमेरिका के अंदर जाकर पूरे विश्व के समक्ष भारत को सम्मान दिलाया था विश्व मे भारतीय संस्कृति का डंका बजाय था। हम युवा साथी ऐसे महान ईश्वर तुलुय स्वामी विवेकानंद जी को नमन करते है और उनके बताए मार्गों पर चलने का प्रयास करने का संकल्प लेते है साथ ही नरेंद्र मोदी जी के सपनो के भारत को बनाने में हम युवा अपनी महती भूमिका निभाएंगे इस बात का भी संकल्प आज हम सभी भाजयुमो कार्यकर्ता लेते है। भाजयुमो प्रभारी योगी अग्रवाल ने भाजयुमो को इस आयोजन के लिए बधाई दी कहा स्वामी विवेकानंद जी को आदर्श मान कर ही युवा भारत को विश्व गुरु बनाने के स्वप्न को साकार कर सकते है।
भाजयुमो के मीडिया प्रभारी उमेश घोरमोड़े ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने युवाओं को आज बड़ा संदेश दिया साथ ही उन्होंने अपने उद्बोधन में युवाओं के लिए विचारणीय प्रश्न भी रखे उन्होंने कहा कि आज 11 सितंबर है विश्व को 2001 से पहले ये पता ही नहीं था कि 9/11 का महत्व क्या है। दोष दुनिया का नहीं था दोष हमारा था कि हमने ही उसे भुला दिया था और अगर हम ना भुलाते तो 21वीं शताब्दी का 9/11 ना होता
सफाई का काम करने वाले भारत मां की सच्ची संतान
विवेकानंद ने जन सेवा को ही प्रभु सेवा कहा था। विवेकानंद ने दुनिया को नया रास्ता दिखाया
इसी दिन इस देश के एक नौजवान ने अपने भाषण से पूरी दुनिया को हिला दिया। गुलामी के 1000 साल के बाद भी उसके भीतर वो ज्वाला थी और विश्वास था कि भारत में वो सामर्थ्य है जो दुनिया को संदेश दे सके।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उस भाषण से पहले लोगों को लेडिज एंड जेंटलमैन के अलावा कोई शब्द नहीं पता था। ब्रदर्स एंड सिस्टर्स के बाद 2 मिनट तक तालियां बजती रही थी। उस भाषण से पूरी दुनिया को उन्होंने अपना बना लिया था। विवेकानंद जी के दो रूप थे विश्व में वे जहां भी गए बड़े विश्वास के साथ भारत का महिमामंडन करते थे। विवेकानंद हमारे समाज के अंदर की बुराईओं को कोसते थे और उनके खिलाफ आवाज उठाते थे। वे दुनिया में भारत की तारीफ करते थे लेकिन भारत में आकर समस्याओं को उठाते थे। वे जीवन में कभी गुरू खोजने को नहीं गए थे वे सत्य की तलाश में थे। महात्मा गांधी भी जीवन भर सत्य की तलाश में घूमते रहे।
भाजयुमो के इस कार्यक्रम में विशेष रूप से भाजयुमो के जिला प्रभारी योगी अग्रवाल भाजयुमो जिला महामंत्री द्वय सचिन मेघानी अमित मैशेरी जिला उपाध्यक्ष महेंद्र मुलनकर डॉ उपेंद्र त्रिवेदी लखविंदर सिंह विभोर शुक्ला दीपक तनना अश्वनी विश्वकर्मा अमित नत्थानी बिट्टू शर्मा राजकुमार धीवर अर्पित सूर्यवंशी मनीष पांडे भोला साहू विशाल सहित बड़ी संख्या में भाजयुमो कार्यकर्ता उपस्तिथ रहे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण सुन प्रेरणा ली।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *