Sharing is caring!

छत्तीसगढ़ सरकार दारू बेचने हुई सफल और युवाओं को नॉकरी दिलाने में हुई विफल – नीलकंठ त्रिपाठी

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष एवं रोजगार प्रकोष्ठ संयोजक नीलकण्ठ त्रिपाठी ने छत्तीसगढ़ सरकार के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा कि रमन सरकार दारू बेचने में मस्त है उनको छत्तीसगढ़ के युवाओं के भविष्य की कोई चिंता नही है छत्तीसगढ़ से लगभग 30622 बेरोजगार ने रोजगार के लिए छत्तीसगढ़ से पलायन किये है और भी करते आ रहे है सरकार को इन सब चीजों से कोई लेना देना नहीं उन्हें केवल दारू बेचना है और छत्तीसगढ़ में बचे हुए जो बेरोजगार युवा है उनको दारू पिला पिला कर इनके भविष्य को बर्बाद करना ही रमन सरकार का मकसद है।
त्रिपाठी ने कहा कि रमन सरकार को लैपटॉप और एंड्राइड फ़ोन बाटने से कोई फायदा नही होगा सिर्फ अपना वोट बैंक बचाने के लिए ये सब ढकोसले करती है इससे अच्छा बेरोजगर युवाओ को रोजगार दिलाओ ताकि उनका भविष्य उज्ज्वल हो अपने परिवार को छोड़ कर छत्तीसगढ़ से पलायन न करना पड़े। आज इंजीनियरिंग किये हुए छात्र को 6000 से 7000 की नॉकरी करनी पड़ रही है क्योंकि इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद यहाँ छतीसगढ़ में उनका कोई भविष्य ही नही है ।
त्रिपाठी जी ने कहा कि रमन सरकार को इसमें विचार करना चाहिए छत्तीसगढ़ में बढ़ रही इतनी बेरोजगारी को कैसे लगाम लगया जाए न कि दारू बेचने में विचार करना चाहिए । युवा नॉकरी के लिए इधर उधर भटक रहे है उनको किसी भी प्रकार की सफलता प्राप्त नहीं होती यही कारण ही कि हमारे युवा भाइयो को पलायन कर दूसरे राज्य में अपने घर परिवार से दूर नॉकरी करना पड़ता है रमन सरकार ने कहा था पिछले साल 2 अक्टूबर को दारू बन्द कर देंगे परंतु दारू बेचने में इतनी मदहोश हो गई है रमन सरकार की युवाओ का भविष्य नही दिख रहा हैं

Sharing is caring!