Sharing is caring!

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सरगुजा की स्वयं सहायता समूह की महिलाएँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रूबरू हुई

अम्बिकापुर :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केन्द्र सरकार की योजनाओं के हितग्रहियों से निरंतर सीधे संवाद कर रहे हैं। इसी कड़ी में गुरुवार को महिला स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं से वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात किये। इस अवसर पर आज जनपद पंचायत अम्बिकापुर के सभाकक्ष में 40 स्वयं सहायता समूहों की 116 महिलायें उपस्थित होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग को देखीं।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महिला स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि मेरा सौभाग्य है कि आज देशभर की 1 करोड़ से ज्यादा महिलाओं से संवाद करने का अवसर मिला है। उन्होनें कहा कि आप सब अपने आप में संकल्प, उद्यमशीलता और सामूहिक प्रयासों का एक प्रेरणादायी उदाहरण हैं। उन्होनें कहा कि महिला सशक्तीकरण की जब हम बात करते हैं तो सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता होती है महिलाओं को स्वयं की शक्तियों को अपनी योग्यताओं तथा अपने हुनर को पहचानने का अवसर उपलब्ध कराना। आज आप किसी भी सेक्टर को देखें, तो आपको वहॉ पर महिलाएं बड़ी संख्या में काम करती हुई दिखेंगी। देश के एग्रीकल्चर सेक्टर, डेयरी सेक्टर की तो महिलाओं के योगदान के बिना कल्पना भी नहीं की जा सकती। प्रधानमंत्री ने कहा कि ये स्वयं सहायता समूह एक तरह से गरीबों, खासकर महिलाओं की आर्थिक उन्नति का आधार बने हैं। ये ग्रुप महिलाओं को जागरूक कर रहे हैं, उन्हें आर्थिक और सामाजिक तौर पर मजबूत भी बना रहे हैं। उन्होनें कहा कि इस योजना को देश के सभी राज्यों में शुरू किया जा चुका है, मैं सभी राज्यों और वहॉ के अधिकारियों का भी अभिनन्दन करना चाहूंगा जिन्होनें इस योजना को लाखों-करोडों लोगों तक पहुंचा कर उनके जीवन में सुधार लाने का काम किया है। मोदी ने कहा कि स्व-सहायता समूह के ढाई लाख से अधिक सदस्य प्रशिक्षण प्राप्त कर धान की बेहतर तरीके से खेती कर रहे हैं। इसी तरह लगभग 2 लाख सदस्य नए तरीकों से सब्जी की खेती कर रहें है।
इस अवसर पर श्रीमती सपना बैरागी, श्रीमती सुचित्रा यादव, श्रीमती सीमाषील, श्रीमती कविता बराल, श्रीमती मुन्नी बाई, श्रीमती अंजनी दास,श्रीमती प्रमिला, श्रीमती सरस्वती, श्रीमती आषा सिंह, श्रीमती शीला सहित स्व-सहायता समूहों की महिलायें उपस्थित थी।

Sharing is caring!