August 5, 2021
Breaking News

कांग्रेस ने लगाया आरोप,दिल्ली में इस्तीफा स्वीकृत होने के 24 घंटे बाद भी कलेक्टर बने बैठे रहे ओपी चौधरी निर्वाचन संबंधित गोपनीय कार्यों को भी प्रतिपादित करते रहे

दिल्ली में इस्तीफा स्वीकृत होने के 24 घंटे बाद भी कलेक्टर बने बैठे रहे ओपी चौधरी निर्वाचन संबंधित गोपनीय कार्यों को भी प्रतिपादित करते रहे

कलेक्टर ओमप्रकाश चौधरी ने रायपुर जिले की जनता को धोखा दिया कलेक्टर जनदर्शन में 953 प्रकरणों को लंबित रखा और अपना राजनीतिक केरियर सवारने चल पड़े-विकास तिवारी

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विकास को जो प्रोग्राम के मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने कहा कि रायपुर के जिलाधीश ओम प्रकाश चौधरी जिन्होंने अपना इस्तीफा केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग दिल्ली को भेजा और उसकी जानकारी प्रदेश मुख्यालय में भी दी दिनांक 24/08/2018 को उनका इस्तीफा केंद्र ने स्वीकृत करके के उसी दिन राज्य सरकार को अधिसूचना क्रमांक 24012/1/2018-AIS-II जारी कर इस्तीफा द्वारा अवगत करवाया गया और उन्हें भारमुक्त कर दिया गया।परंतु रमन सरकार ने दिनांक 25/08/2018 को पत्र क्रमांक ई-1/17/2018/एक-2 को 24 घंटे बीतने के बाद जारी किया और उन्हें भारमुक्त किया जबकि श्री चौधरी को केंद्र द्वारा पहले दिन ही भारमुक्त कर दिया गया था उसके बावजूद ओमप्रकाश चौधरी राज्य सरकार द्वारा जिलाधीश को मिलने वाली सभी सुविधावों का भरपूर उपयोग अनवरत कर रहे है उनको शासन द्वारा दिये गए सरकारी बंगले और सरकारी गाड़ी क्रमांक CG 02 F 5555 एम्बेसेडर कार का भी उपयोग किया जा रहा है।
मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव की लगाये गये आरोप सच साबित हुवे कि राज्य के आला अधिकारी रमन सरकार के एजेंट के रूप में काम करते है और आरएसएस के इशारों पर चलते है। विकास तिवारी ने कहा कि रमन सरकार ने ओमप्रकाश चौधरी को इस्तीफे के बाद भी रायपुर कलेक्टर के पद से भारमुक्त नही किया ये भारतीय संविधान का मजाक उड़ाना है अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के कदाचरण एवं नियमावली की धज्जी उड़ाना है जो अधिकारी पद से इस्तीफा दे चुका है उसे अनवरत गोपनीय विभागों में निरंतर आने जाने और जिला निर्वाचन के अति गोपनीय कार्यो को संपादित करने की भी खुली छूट रमन सरकार द्वारा दिया जाना भारत वर्ष के संविधान और राज्य निर्वाचन के नियमो का माजक उड़ाना है ये एक संज्ञेय अपराध की श्रेणी में आता है।
मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने रमन सरकार पर सवाल उठाते हुवे कहा कि ओमप्रकाश चौधरी के इस्तीफ़ा स्वीकृत होने के 24 धंटे बीतने के बाद उनके ही अधीन मुख्य कार्यपालन अधिकारी पंचायत विभाग में काम करने वाले वर्ष 2011 के अधिकारी दीपक सोनी को कलेक्टर नियुक्त किया गया।जबकि ओमप्रकाश चौधरी वर्ष 2005 के आईएएस अधिकारी थे।
मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने कहा कि रमन सरकार को जनता के समक्ष यह बताना चाहिये कि और कितने ओमप्रकाश चौधरी है जिन्हें भारतीय जनता पार्टी में शामिल किया जायेगा और आज वो जिस पद में आसीन है तो वो सरकारी काम काज कर रहे है कि आरएसएस और रमन सरकार के विचारधाराओं को सरकारी माध्यमो से प्रचारित कर रहे है भाजपा के एजेंटो और मंडल अध्यक्षों की तरह संपादित कर रहे है।

विकास तिवारी
मीडिया प्रभारी
विकास खोजो प्रोग्राम
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *