August 3, 2021
Breaking News

भाई को राखी बाधंने से वंचित रही कई बहनें, आधार कार्ड बना मायूसी का वजह

भाई को राखी बाधंने से वंचित रही कई बहनें, आधार कार्ड बना मायूसी का वजह

Harit chhattisgarh roushan varma

अंंबिकापुर :- भाई-बहन के प्रेम के प्रतीक पर्व रक्षाबंधन के अवसर पर प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी बहने जेल में बंद अपने भाई को राखी बांधने केंद्रीय जेल अंबिकापुर पहुंची है। पर शायद उन्हें मालूम नहीं किं राखी के साथ इन बहनों को अपना आधार कार्ड भी लाना अनिवार्य है। आधार कार्ड नहीं रखने के कारण कई महिलाओं का पंजीयन नहीं हुआ और न ही वे अपने भाई को राखी बांध सकी। जेल प्रबंधन का यह नियम महिलाओं के लिए परेशानी का सबब बन गया है।

विदित हो किं आज भाई-बहन का पावन पर्व रक्षाबंधन है। इस अवसर पर बड़ी संख्या बहनें जेल में बंद अपने भाई को राखी बांधने आती है। पर इस वर्ष इन बहनों के लिए जेल में बंद अपने भाईयों को राखी बांधना इतना सहज नहीं रहा। जेल प्रबंधन के नए नियम के सामने रक्षाबंधन के त्यौहार पर दूर-दराज से आई बहनें बेवश ,लाचार और मायूसी से भरी अपने भाई को राखी बांधने से वंचित रह गई, क्योकिं जेल प्रबंधन ने राखी बाधंने आई बहनों के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता रखी है। जिन बहनों के पास आधार कार्ड नहीं हैं, या जिनका आधार कार्ड गुम गया है वे साल भर के इस त्यौहार मे अपने भाई को राखी नहीं बांध सकेगी।

वैसे 26 से 30 अगस्त 5 दिनों तक राखी बांध सकती जेल प्रबंधन द्वारा 26 से 30 अगस्त तक प्रातः 8:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे बाहर से आने वाली बहनों का पंजीयन किया जाएगा राखी बांधने के लिए जेल प्रबंधन ने जो नियमावली जारी की है वह महिलाओं की परेशानीयों को बढा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *