July 25, 2021
Breaking News

विधानसभा निर्वाचन 2018 में पहली बार व्ही.व्ही.पैट का उपयोग किया जाएगा, जाने क्या है व्ही.व्ही.पैट

विधानसभा निर्वाचन 2018 में पहली बार व्ही.व्ही.पैट का उपयोग किया जाएगा, जाने क्या है व्ही.व्ही.पैट

अम्बिकापुर :- विधानसभा निर्वाचन 2018 का सरगुजा जिले में सफलतापूर्वक संचालन के उद्देश्य बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट एवं व्ही.व्ही. पैट का सत्यापन कार्य बी.ई.एल. एवं ई.सी.आई.एल. के इंजीनियर्स द्वारा मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों की उपस्थिति में किया जा रहा है। मतदाताओं द्वारा बैलेट यूनिट का उपयोग मतदान के लिये किया जाता है, जो कंट्रोल यूनिट में दर्ज होता है। इस बार के मतदान में मतदाताआें के लिये व्ही.व्ही.पैट का उपयोग भी किया जाएगा, ताकि मतदाता अपने द्वारा किये गये मतदान का स्वयं सत्यापन कर सकें।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी के मार्गदर्शन में विधानसभा निर्वाचन 2018 का सरगुजा जिले में सफलतापूर्वक संचालन के उद्देश्य से बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट एवं व्ही.व्ही. पैट का सत्यापन कार्य बी.ई.एल. एवं ई.सी.आई.एल. के इंजीनियर्स द्वारा मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों की उपस्थिति में किया जा रहा है। ज्ञातव्य है कि मतदाताओं द्वारा बैलेट यूनिट का उपयोग मतदान के लिये किया जाता है, जो कंट्रोल यूनिट में दर्ज होता है। इस बार के मतदान में मतदाताआें के लिये व्ही.व्ही.पैट का उपयोग भी किया जाएगा, ताकि मतदाता अपने द्वारा किये गये मतदान का स्वयं सत्यापन कर संतुष्ट हो सकें।
इसी क्रम में जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती नयनतारा सिंह ने बताया है कि सरगुजा जिला अंतर्गत लुण्ड्रा विधानसभा में 254, अम्बिकापुर विधानसभा में 273 तथा सीतापुर विधानसभा में 244 मतदान केन्द्र हैं। इस प्रकार जिले में विधानसभा निर्वाचन हेतु कुल 771 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। उन्होंने बताया है कि जिले में कुल 1 हजार 158 बैलेट यूनिट एवं 967 कंट्रोल यूनिट है। इन बैलेट यूनिट एवं कंट्रोल यूनिट के प्रथम चरण के सत्यापन के दौरान 1 हजार 142 बैलेट यूनिट एवं 941 कंट्रोल यूनिट मतदान करने योग्य पाये गये। उन्होंने बताया कि जिले में मतदान सम्पन्न कराने हेतु मात्र 926 बैलेट यूनिट एवं कंट्रोल यूनिट की आवश्यकता होगी। इस बार के विधानसभा निर्वाचन में एम-3 श्रेणी के मतदान मशीनों का उपयोग किया जाएगा। इससे पूर्व एम-2 श्रेणी के मतदान मशीनों का उपयोग किया जाता था, जिसमें चार बैलेट यूनिट को जोड़कर अधिकतम 64 प्रत्याशियों का मतदान सम्पन्न कराया जा सकता था तथा 64 प्रत्याशियों से अधिक होने पर मतपत्र का उपयोग करना पड़ता था, किन्तु इस बार एम-3 श्रेणी के मशीनों का उपयोग किया जाएगा, जिसमें 24 बैलेट यूनिट जोड़े जा सकेंगे। इस प्रकार 384
प्रत्याशियों का मतदान भी बैलेट यूनिट के माध्यम से कराया जा सकेगा। व्ही.व्ही.पैट का उपयोग
उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सिंह ने बताया है कि जिले में इस बार के विधानसभा निर्वाचन में पहली बार व्ही.व्ही.पैट का उपयोग किया जाएगा। व्ही.व्ही.पैट से आशय वोटर वेरिफाईड पेपर ऑडिट ट्रेल से है। इसकी सहायता से मतदाता मतदान के दौरान यह देख सकेंगे कि उन्होंने जिस प्रत्याशी के लिये मतदान किया है, उन्हें ही मत प्राप्त हुआ है या नहीं। इस मशीन में 7 सेकेण्ड तक डाले गये मत का प्रदर्शन होगा। मतदान के दौरान इस मशीन से किये गये मत की पर्ची भी निकलेगी जो बंद डिब्बे में संग्रहित होगी। मतगणना के दौरान विशेष परिस्थितियों में व्ही.व्ही. पैट में किये गये मतदान की पर्ची की भी गणना जिला निर्वाचन अधिकारी के अनुमति से की जा सकेगी। इस प्रकार मतदान के प्रक्रिया को निष्पक्ष बनाने हेतु सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं।
मतदान केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्थाएं उपलब्ध कराने के निर्देश
श्रीमती नयनतारा सिंह ने बताया है कि सेक्टर अधिकारियों द्वारा कर्तव्यस्थ सेक्टर में स्थित मतदान केन्द्रों का अवलोकन कर प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जा चुका है। उन्होंने बताया है कि जिन मतदान केन्द्रों में पेयजल की उपलब्धता नहीं है उन मतदान केन्द्रों में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता को पेयजल उपलब्ध कराने निर्देशित किया गया है। इसी प्रकार विद्युत विभाग के कार्यपालन अभियंता को संबंधित मतदान केन्द्र में विद्युत की उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को संबंधित मतदान केन्द्र में आवश्यकतानुसार रैम्प, शौचालय आदि की सुविधा उपलब्ध कराने निर्देशित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *