July 25, 2021
Breaking News

पत्थलगांव क्षेत्र के निवासी अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी विजय कुजूर बने स्वीप प्लान के मुख्य आइकॉन, विश्वस्तर पर बनाई जशपुर की पहचान

पत्थलगांव क्षेत्र के निवासी अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी विजय कुजूर बने स्वीप प्लान के मुख्य आइकॉन, विश्वस्तर पर बनाई जशपुर की पहचान
हॉकी के साथ मतदान के लिए करेंगे जागरूक
जशपुरनगर. जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर डॉ प्रियंका शुक्ला ने स्वीप प्लान का आइकॉन अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी विजय कुजूर को बनाया है।
निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जशपुर जिले में यश-प्रण अन्तर्गत स्वीप प्लान (मतदाता जागरूकता अभियान) चलाया जा रहा है । जिसके माध्यम से लगातार लोगो को मतदान के प्रति जागरूक करने हेतु कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी श्री विजय कुजूर जी ने जिला प्रशासन के इस अभियान में अपनी सक्रिय भागीदारी निभाई है ।
जिले में हॉकी खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने के साथ मतदान करने के लिए भी लगातार मतदाताओं को जागरूक करने हेतु कार्य किया है और लोगों को शतप्रतिशत मतदान हेतु प्रेरित करने का काम किया है। जिसके कारण उन्हें स्वीप प्लान का मुख्य आइकॉन बनाया है।
कौन हैं विजय कुजूर
हॉकी खिलाड़ी श्री विजय कुजूर का जन्म पत्थलगांव विकासखण्ड के गांव कर्रजोर मुड़ा बहला में 1965 में हुआ। महाविद्यालयीन शिक्षा पूर्ण करने के बाद 1986 में ये सेना में भर्ती हुए, पहली पोस्टिंग जालंधर पंजाब में मिली । सेना की हॉकी टीम से खेलते हुए भारतीय हॉकी टीम में चयन 1988 में हुआ और 1992 तक भारतीय हॉकी टीम में खेले ।
इस प्रकार 1989 में 4था इंदिरा गांधी गोल्ड कप में खेलते हुए कोरिया को पराजित किये। 1990 में वर्ल्ड कप कैम्प हेतु चयनित हुए। इससे पूर्व 1988 में अटलांटा ओलम्पिक हेतु चयनित हुए थे परंतु पारिवारिक कारणों की वजह से ओलंपिक में हिस्सा नहीं ले सके थे।1992 में एशियाड खेल हेतु चयनित हुए और कई मैच जीत कर देश के नाम मेडल प्राप्त किये। श्री विजय कुजूर सेना से कैप्टन पद से सेवानिवृत्त होकर जशपुर में हॉकी का प्रशिक्षण दे रहे हैं।
श्री विजय कुजूर वर्तमान में भी हाकी के खेल से जुड़कर जशपुर जिले के गाँव गाँव में जाकर हॉकी खेल की बारीकियों को सीखा रहे हैं। स्कूल में उनका निःशुल्क हॉकी प्रशिक्षण शिविर भी चलता रहता है। अब तक श्री विजय कुजूर ने सैकड़ो हॉकी प्रेमी खिलाड़ियों को हॉकी के गुर सीखाये हैं। इसके साथ ही जगह जगह पर फिजिकल फिटनेस के लिये निरन्तर जागरूक करते हैं । श्री विजय कुजूर का मानना है की खिलाड़ियों के साथ साथ अन्य सभी लोगो को भी शारिरिक रूप से मजबूत होना आवश्यक है ।देश के युवा एवं नागरिक स्वस्थ रहेंगे तभी देश मजबूत होगा।
हाकी के प्रति रुचि ने बनाया अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी
विजय कुजूर ने बताया कि शुरू से ही उन्हें हॉकी में रुचि थी और गाँव मे ही हाकी खेलते खेलते उनकी रुचि हॉकी खेल के प्रति बढ़ती गई । उस समय हॉकी खेलने के लिए ना खेल मैदान उपलब्ध था ना संसाधन उपलब्ध होते थे,  फिर भी गाँव के युवा इस खेल को रुचि के साथ खेलते थे । स्कुली और कॉलेज की शिक्षा प्राप्त करते हुए भी हाकी लगातार खेलते रहे जिसके परिणाम स्वरूप भारतीय सेना के सर्विसेस में उन्हें अपना जौहर दिखाने का मौका मिला और विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय हाकी प्रतियोगिता में खेलने का अवसर प्राप्त हुआ इसका मुझे गर्व है कि जशपुर की मिट्टी में खेलते खेलते हुए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जशपुर को गौरान्वित करने का मौका मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *