September 24, 2021
Breaking News

गृहमंत्री भी हाथियों से नहीं सुरक्षित… उन्ही के गाँव में हाथियों ने ग्रामीण को कुचला

हरित छत्तीसगढ़ 

(पप्पू जायसवाल) सूरजपुर जिले के ओड़गी जनपद क्षेत्र के व प्रदेश के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के गृह ग्राम चेन्द्रा में बीती रात 15 हाथियो के दल ने जमकर उत्पात मचाते हुए एक ग्रामीण को अपने सूड़ से पटक पटक कर मौत के घाट उतार दिया और लगभग 2:30 एकड़ की धान की फसल को पूरी तरह से तहस नहस कर चौपट कर दिया.. यह घटना गृहमंत्री के निवाश से चंद कदम की दूरी पर घटित हुई है। ऐसे में सवाल यह है की लाख सुरक्षा के इंतजामो के बाद भी खुद गृह मंत्री सुरक्षित है क्या.?

ग्राम चेन्द्रा के सरपंच नधिर ने बताया कि 15 हाथियो का दल ग्राम टोमो के आश्रित ग्राम झाडूडीह की तरफ से ग्राम चेन्द्रा में प्रवेश किया औऱ रात में मृतक कमलसाय पिता सोभित सिंह उम्र 45 वर्ष ने हाथियो की चिंघाड़ की आवाज सुनकर अपने खेतों की तरफ गया और मृतक के खेतों में हाथियो ने धान की फसल को खा रहे थे मृतक हाथियो को भगाने की कोशिश करने लगा जिसके बाद गुसाये हाथियो ने कमलसाय को चारों तरफ से घेर लिया और अपने सूड़ से उसे पटक पटक कर मौत के घाट उतार दिया और शरीर के कई हिशो को दूर दूर फेक दिया ।वही ग्राम चेन्द्रा के अमटिकरा कसाईखाड़ जंगल के रास्ते से चेन्द्रा में प्रवेश किया और 2:30 एकड़ की फसल को अपने पैरों तले कुचल कर तहस नहस कर दिया जिसके बाद हाथियो ने सबेरे होते जंगल मे फिर से प्रवेश कर गए ।

ग्राम के ग्रामीण ने बताया कि रात होने के कारण किसी को हाथियो के आने की जानकारी नही लगी जब सुबह हुआ तो खेतो के तरफ गए तो कमलसाय का शव पूरी तरह छत विच्छत दूर दूर तक पड़ा मिला औऱ धान की फसल को तहस नहस देख उनके होश उड़ गए… इसकी सूचना वन विभाग के डीएफओ सूरजपुर को दिया गया और उन्होंने खुद चेन्द्रा पहुच कर स्थिति का जायजा लिया और मृतक के शव को पंचनामा बनाकर परिजनों को सौंप दिया है।

वही मृतक के परिजनों को तात्कालिक सहायता के रूप में 25 हजार दिया गया और फशल कि रिपोर्ट तैयार कर फशल नुकसान हुए किसानो को मुआवजा प्रकरण तैयार कर जल्द दिया जाएगा वही अभी हाथी झाडूडीह के जंगल मे डटे हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *